Home » बिज़नेस » BSNL not yet got 4G spectrum, employees announced to go on hunger strike
 

BSNL को अभी नहीं मिला 4G स्पैक्ट्रम, कर्मचारियों ने किया अब भूख हड़ताल पर जाने का ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 February 2020, 11:09 IST

भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) के कर्मचारियों ने सोमवार से देशव्यापी भूख हड़ताल का ऐलान किया है. इनका कहना है की सरकार द्वारा घोषित-69,000-करोड़ के पुनरुद्धार पैकेज के क्रियान्वयन में देरी की जा रही है. बीएसएनएल (एयूएबी) के सभी यूनियनों और संघों ने 24 फरवरी, 2020 को देशव्यापी भूख हड़ताल का ऐलान किया है. बीएसएनएल के संबंध में केंद्रीय मंत्रिमंडल के पुनरुद्धार पैकेज के शीघ्र कार्यान्वयन की मांग के लिए इस भूख हड़ताल का आयोजन किया जा रहा है.

अक्टूबर 2019 में केंद्र सरकार ने 4जी स्पेक्ट्रम आवंटन और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) सहित बीएसएनएल और एमटीएनएल के विलय की घोषणा की थी. कर्मचारियों का कहना है कि पुनरुद्धार पैकेज की मुख्य विशेषता 4जी स्पेक्ट्रम का आवंटन है. उनका कहना है कि इनमें से केवल वीआरएस लागू किया गया है, जिसके माध्यम से 78,569 बीएसएनएल कर्मचारियों को घर भेजा गया है. यह कहना बेहद परेशान करने वाला है कि लगभग 4 महीने बीत जाने के बाद भी बीएसएनएल को 4जी स्पेक्ट्रम आवंटित नहीं किया गया है.


कहा गया है कि सरकार ने बीएसएनएल को अभी तक सॉवरेन गारंटी जारी नहीं की है, जिससे वह लंबी अवधि के बॉन्ड जारी कर 8,500 करोड़ जुटा सके. बीएसएनएल कर्मचारियों के निकाय ने कहा कि 4जी स्पेक्ट्रम के आवंटन में देरी और फंड की अनुपलब्धता के कारण भी, यह समझा जाता है कि बीएसएनएल की 4 जी सेवा 2020 के अंत से पहले शुरू होने की संभावना नहीं है. कर्मचारियों ने कहा है कि राहत पैकेज के बावजूद कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल रहा है और पिछले 10 महीनों से संविदा कर्मियों के वेतन का भुगतान नहीं किया गया है.

पाक को FATF की आखिरी चेतावनी- आपका समय ख़त्म हुआ, अब एक्शन करें या वित्तीय परिणाम भुगतें

First published: 24 February 2020, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी