Home » बिज़नेस » Budget 2016-17: Good news for Home Buyers, Industry welcomes FM move
 

अच्छी खबर: घर खरीदने पर मिलेगी 50,000 रुपये की छूट

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 February 2016, 16:34 IST
QUICK PILL
  • जेटली ने 35 लाख रुपये के लोन पर हर साल 50 हजार रूपये अतिरिक्त ब्याज की छूट देने का फैसला किया है. हालांकि यह छूट उन्हें ही मिलेगी जिनके घर की कीमत 50 लाख रुपये से अधिक नहीं होगी. 
  • पहली बार मकान खरीदने वालों को राहत प्रदान करते हुए खरीदारों को 50 हजार रुपये की अतिरिक्त छूट देने की घोषणा की गई है. रियल एस्टेट इंडस्ट्री ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. पिछले कुछ सालों से रियल एस्टेट में मांग की कमी बनी हुई है.

बजट 2016-17 में शहरी मध्य वर्ग की जगह ग्रामीण अर्थव्यवस्था को तवज्जो दी गई है. सरकार ने जहां ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए मनरेगा जैसी सामाजिक सुरक्षा योजना को रिकॉर्ड बजटीय आवंटन किया गया वहीं शहरी उपभोक्ताओं को छोटी-मोटी राहत देकर निपटा दिया गया.

सुपर रिच पर लगने वाले सरचार्ज को भी 12 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया गया. इसके अलावा लग्जरी कारों को भी महंगा किया जा चुका है. 

और पढ़ें: बजट 2016-17: मनरेगा को रिकॉर्ड आवंटन, मध्यवर्ग को झटका

हालांकि इन सबके बीच जेटली ने शहरी मध्यवर्ग का भी ख्याल रखने की कोशिश की है. छोटे टैक्स पेयर्स को जहां टैक्स में छूट देने का प्रस्ताव किया गया है वहीं इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

बजट में 35 लाख रुपये के लोन पर हर साल 50 हजार रूपये अतिरिक्त ब्याज छूट देने की घोषणा की गई है

जेटली ने 5 लाख रुपये की आय पर 3 हजार रुपये की कर छूट देने का प्रस्ताव रखा है.जबकि पांच लाख रुपये की आय पर एचआरए में छूट की रकम को 24,000 रुपये से बढ़ाकर 60,000 रुपये कर दिया गया है. वित्त मंत्री ने ईपीएप के लिए 1,000 करोड़ रुपये के फंड का प्रस्ताव रखा है.

घर खरीदने वालों को राहत

मध्य वर्ग की जरूरतों का ख्याल रखते हुए जेटली ने 35 लाख रुपये के लोन पर हर साल 50 हजार रूपये अतिरिक्त ब्याज की छूट देने का फैसला किया है. हालांकि यह छूट उन्हें ही मिलेगी जिनके घर की कीमत 50 लाख रुपये से अधिक नहीं होगी. 

पहली बार मकान खरीदने वालों को राहत प्रदान करते हुए खरीदारों को 50 हजार रुपये की अतिरिक्त छूट देने की घोषणा की गई है. रियल एस्टेट इंडस्ट्री ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. पिछले कुछ सालों से रियल एस्टेट में मांग की कमी बनी हुई है.

बजट के बाद एसऐंडपी बीएसई रियल्टी में खरीदारी का दौर जारी है. बीएसई का रियल्टी इंडेक्स फिलहाल हरे निशान में कारोबार कर रहा है.

देश की सबसे बड़ी कंपनी डीएलएफ  करीब सवा दो पर्सेंट की मजबूती के साथ 89.05 रुपये पर कारोबार कर रहा है. वहीं एचडीआईएल और शोभा डिवेलपर्स 2.25 पर्सेंट और 4.57 पर्सेंट तक की तेजी बनी हुई है. यूनिटेक, डी बी रियल्टी और ओमैक्स के शेयरों में भी रिकवरी दिखाई दे रही है.

और पढ़ें: बजट 2016-17: फूड प्रोडक्ट्स में 100 फीसदी एफडीआई

और पढ़ें: राजकोषीय घाटे को काबू में रखेगी सरकार

और पढ़ें: बजट 2016-17: कार और सिगरेट हुई महंगी

First published: 29 February 2016, 16:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी