Home » बिज़नेस » Budget 2018 disappointed Mobile users as raised 20% custom duty on imported handsets will make them costlier, Apple iPhone to become expensi
 

मोबाइल यूजर्स के लिए बजट 2018 की बुरी बात

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 1 February 2018, 14:48 IST

आम बजट 2018 की घोषणा के साथ ही मोबाइल यूजर्स को निराशा हाथ लगी है. इस बजट की बुरी बात यह है कि अब आयातित (इंपोर्टेड) स्मार्टफोन खरीदने वाले यूजर्स को इसके लिए ज्यादा रकम चुकानी होगी. केंद्र सरकार ने आयातित मोबाइल को महंगा करने की कवायद मेक इन इंडिया अभियान को बढ़ावा देने के लिए की है.

वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा आम बजट 2018 में की गई घोषणा के मुताबिक अब इंपोर्टेड हैंडसेट्स (मोबाइल) पर कस्टम ड्यूटी को बढ़ा दिया गया है. पहले इंपोर्टेड हैंडसेट्स पर 15 फीसदी कस्टम ड्यूटी लगती थी, जिसे मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए बढ़ाकर अब 20 फीसदी कर दिया गया है.

आयातित मोबाइल पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने के पीछे सरकार का मकसद हैंडसेट्स, डिवाइसों और इनके उपकरणों के घरेलू उत्पादन में इजाफा करना है.

यहां सवाल उठना लाजमी है कि सरकार के कस्टम ड्यूटी बढ़ाने के कदम से सबसे ज्यादा कौन सा ब्रांड प्रभावित होगा? तो इसका जवाब Apple और इसकी जैसी अन्य कंपनियां है जो अपने ज्यादातर iPhone चीन से आयातित करती हैं. यानी Apple के iPhone कस्टम ड्यूटी बढ़ने से महंगे हो जाएंगे.

वैसे, Apple भारत में मौजूद अपनी निर्माण इकाई में iPhone 6S का निर्माण करने की योजना बना रही है. हालांकि यह निर्णय पिछले महीने का है जब भारत में स्मार्टफोन की इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया गया था. इस बढ़ोतरी के बाद Apple ने iPhones के दाम पिछले महीने बढ़ा दिए थे. लेकिन अब कस्टम ड्यूटी में बढ़ोतरी से कंपनी के iPhones और महंगे हो जाएंगे. पिछले साल स्मार्टफोन की कस्टम ड्यूटी में तीसरी बार इजाफा किया गया था.

इसके अलावा सरकार ने प्रिटेंट सर्किट बोर्ड (पीसीबी), कैमरा मॉड्यूल्स, कनेक्टर्स और स्मार्टफोन निर्माण में इस्तेमाल होने वाले अन्य कंपोनेंट्स की इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है. इससे Xiaomi, Motorola, OnePlus समेत अन्य कंपनियां जो भारत में अपने स्मार्टफोनों की असेंबलिंग करती हैं, को देश में ही स्मार्टफोन निर्माण के लिए मजबूर होना पड़ेगा.

First published: 1 February 2018, 14:48 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी