Home » बिज़नेस » Budget 2019: Finance minister Nirmala Sitharaman's First Budget Speech on 6th July, know the expectations
 

क्या देश की महिला वित्तमंत्री कर पाएंगी लोगों की उम्मीदें पूरी? 5 जुलाई को हो सकता है बड़ा ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2019, 15:05 IST

भारत की पहली पूर्णकालिक महिला वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण अगले महीने 5 जुलाई को वित्तवर्ष 2019-20 के लिए पूर्ण बजट पेश करेंगी. इस साल चुनाव से पहले फरवरी में अंतरिम बजट पेश किया गया था. अब मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश किया जाएगा. अंतरिम बजट में सरकार ने सीमांत और छोटे किसानों के लिए सालाना 6000 रूपये वित्तीय सहायता हेतु 75 हजार करोड़ की योजना पेश की थी. इसके अलावा पांच लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को आयकर से पूरी छूट की भी घोषणा की गई थी.

आम लोगों की बजट से उम्मीदें

मोदी सरकार पूर्ण बहुमत से जब दोबारा चुनकर आई तो देशवासियों की उम्मीदें भी अधिक हो गई. सामाजिक क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को अगले बजट में शिक्षा, स्वच्छता, महिला सुरक्षा और बच्चों के पोषण पर ध्यान देने का सुझाव दिया है. उन्होंने चिकित्सा उपकरणों पर करों को तर्कसंगत बनाने और स्वास्थ्य सेवा ढांचे के लिए विशेष कोष, दवाओं के साथ - साथ डायग्नॉस्टिक सुविधाएं मुफ्त करने का भी सुझाव दिया है.

Budget 2019: बजट से पहले पीएम मोदी वित्त मंत्रालय के पांचों विभागों से मिलेंगे 

नौकरी-पेशा लोगों की उम्मीदें

इस बजट से करोड़ों नौकरी पेशा लोगों को उम्मीदें हैं कि इनकम टैक्स स्लैब में थोड़ी और राहत मिलेगी. लेकिन कई वित्तीय विश्लेषकों का मानना है कि पीएम मोदी की सत्ता में वापसी के बाद पेश होने जा रहे पहले बजट में आयकर के ढांचे में बदलाव नहीं किया जाएगा, क्योंकि यह काम अंतरिम बजट में ही कर दिया गया था. पांच लाख रुपये तक की इनकम को टैक्सेबल नहीं माना गया था.

कॉरपोरेट जगत की उम्मीदें

वर्तमान में मंद पड़ती अर्थव्यवस्था को देखते हुए उद्योग संगठन, फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) ने कहा है कि सरकार को कॉरपोरेट तथा व्यक्तिगत टैक्स में कटौती करनी चाहिए, तथा निर्यात पर आधारित प्रोडक्ट्स को टैक्स में सहूलियत देने पर विचार करना चाहिए. FICCI ने कहा, "अगला बजट सरकार के लिए उचित वित्तीय प्रोत्साहन तथा नीतियों के माध्यम से खपत और निवेश बढ़ाने का अवसर है."

First published: 15 June 2019, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी