Home » बिज़नेस » Budget 2019: Gold prices may be big cuts, jewelers are demanding
 

Budget 2019: सोने की कीमतों में हो सकती है बड़ी कटौती, ज्वैलर्स कर रहे हैं ये मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 January 2019, 12:43 IST

 

आने वाली 1 फरवरी को मोदी सरकार अपना अखिरी बजट पेश करेगी. आर्थिक जानकारों की माने तो इस चुनावी साल में मोदी सरकार अपने बजट को लोक-लुभावन बना सकती है. आने वाले बजट से ज्वैलर्स और बुलियन भी कई उम्मीदें लगाए हुए हैं. इस बजट से सबसे बड़ी उम्मीद ज्वैलर्स की यह है कि सरकार सोने की इम्पोर्ट ड्यूटी में कुछ कटौती करनी चाहिए. इसी तरह आगामी बजट में पूरे देश में ‍ज्वैलरी हॉलमार्किंग को जरूरी किया जा सकता है.

बीते कुछ समय से यह सेक्टर मंदी का सामना कर रहा है. नोटबंदी लागू होने के बाद सेक्टर को बड़ा झटका लगा जबकि जीएसटी जिस तरह लागू किया गया उससे इंडस्ट्री को बड़ा नुक्सान हुआ. नोटबंदी के बाद बार ज्वैलर्स का गुस्सा भी देखने को मिला. तब से ज्वैलर्स लगातार सोने पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम करने की मांग कर रहे हैं.

 

इंडस्ट्री का मानना है कि सरकार को आगामी बजट में गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम को बढ़ावा देना चाहिए और इसे आसान किया जाना चाहिए. ज्वैलर्स का कहना है कि मंडी से निकलने के लिए ज्वैलरी खरीदने पर क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन चार्ज कम किया जाना चाहिए.

जबकि ग्रामीण इलाकों में खपत बढ़ाने पर ध्यान दिया जाना चाहिए. इसी तरह खरीद पर कैश ट्रांजैक्शन की सीमा बढ़ानी चाहिए. इसी तरह ज्वैलर्स गोल्ड एक्सचेंज को जल्द शुरू करने की मांगकर रहे हैं.

बजट 2019 से उम्मीदें : आयतित लीथियम बैटरियों पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने की उम्मीद में इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता

First published: 26 January 2019, 12:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी