Home » बिज़नेस » Budget 2019: Hasmukh Adhia, Ajay Narayan Jha to make way for new team
 

हसमुख अधिया के रिटायरमेंट के बाद जेटली के साथ ये अफसर करेंगे बजट तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 November 2018, 14:28 IST

वित्त सचिव हसमुख अधिया और व्यय सचिव अजय नारायण झा की सेवानिवृत्ति तिथियों तय हो चुकी है. इसका मतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ फरवरी में बजट पेश करने वाली टीम एकदम अलग होगी. आधिया 30 नवंबर को अपने पद से रिटायर हो रहे हैं. वित्त मंत्रालय में दूसरे वरिष्ठतम नौकरशाह झा, 31 जनवरी को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं. भारत के विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के वर्तमान में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अजय भूषण पांडे अगले राजस्व सचिव होंगे.

वर्तमान में व्यय विभाग में विशेष सचिव गिरीश चंद्र मुर्मू व्यय विभाग में स्पेशल ड्यूटी पर अधिकारी बनेंगे और 1 फरवरी से व्यय सचिव के रूप में कार्यभार संभालेंगे. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग पांच वित्त मंत्रालय के सचिवों में सबसे वरिष्ठतम होंगे.

1 दिसंबर से 31 जनवरी तक झा को वित्त सचिव के रूप में नामित किया जा सकता है. जेटली ने शनिवार को एक ब्लॉग के जरिये आधिया के रिटायरमेंट की घोषणा की थी. 1981-बैच गुजरात-कैडर अधिकारी की जेटली ने शनिवार को प्रशंसा करते हुए कहा कि वह एक ईमानदार नौकरशाह हैं, जिसने ईमानदारी के साथ अपना काम किया.

 

दूसरी ओर अजय नारायण झा 1982-बैच मणिपुर-कैडर अधिकारी हैं, गर्ग 1983 बैच राजस्थान कैडर से हैं, अजय पांडे 1984 बैच महाराष्ट्र कैडर से हैं. जबकि मुर्मू 1985-बैच गुजरात कैडर से हैं. अन्य दो वित्त मंत्रालय सचिव 1984-बैच झारखंड कैडर अधिकारी और डीआईपीएएम (निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग) सचिव अतनू चक्रवर्ती और 1985-बैच गुजरात-कैडर अधिकारी, वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार हैं.

हालांकि सरकार के वित्त मंत्रालय में सचिवों के कार्यकाल का विस्तार करने के लिए यह एक उपयुक्त समय था क्योंकि अंतिम दिन बजट करीब है. उदाहरण के लिए पूर्व आर्थिक मामलों के सचिव शक्तििकांत दास को फरवरी 2017 में सेवानिवृत्त किया जाना था, लेकिन उनके कार्यकाल को बजट प्रक्रिया के बाद भी मई में विस्तारित किया गया था.

मुख्य आर्थिक सलाहकार का कार्यालय 27 अगस्त से खाली था जब अरविंद सुब्रमण्यम ने अपना विस्तारित कार्यकाल कम कर दिया और संयुक्त राज्य अमेरिका में अकादमिक में जीवन में वापस चले गए थे.

ये भी पढ़ें :  9 घंटे से ज्यादा चली RBI बोर्ड की मीटिंग लेकिन नहीं सुलझ पाया पूरा विवाद

First published: 20 November 2018, 10:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी