Home » बिज़नेस » Budget session begins here, bank employees on strike, checks worth Rs 23,000 crore cheques
 

बजट से पहले बैंक कर्मचारी हड़ताल पर, अटके 23,000 करोड़ के चेक

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 January 2020, 12:20 IST

अपनी सैलरी को लेकर शुरकरवार से हड़ताल गए बैंक कर्मचारियों के कारण बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होने की संभावना है. ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (AIBEA) का कहना है कि इससे बैंकों के कामकाज पर बड़ा असर पड़ रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार AIBEA का कहना है कि मुंबई, चेन्नई और दिल्ली में क्लियरिंग ग्रिड में लगभग 23,000 करोड़ के लगभग 31 लाख चेक हड़ताल के कारण क्लियर नहीं हो सके.

AIBEA का कहना है कि आज अधिकांश बैंक शाखाएं बंद रहीं. कैश जमा या वापस नहीं लिया जा सका. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू), बैंकिंग क्षेत्र में नौ यूनियनों के एक ने 31 जनवरी और 1 फरवरी को हड़ताल का आह्वान किया था.

एआईबीईए के महासचिव वेंकटचलम ने कहा देश भर से मुख्य रूप से तमिलनाडु, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, एमपी, दिल्ली, पंजाब, गुजरात, कर्नाटक, केरल, बिहार, आदि जैसे राज्यों से जो रिपोर्ट आयी है, उसके अनुसार बैंक बहुत प्रभावित हुए हैं''. बैंकरों ने उस दिन हड़ताल बुलाई है जब आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को अपना दूसरा बजट पेश करेंगी.

वेंकटचलम ने कहा कि नवंबर 2017 से बैंकों में वेज रिवीजन सेटलमेंट है, क्योंकि आखिरी सेटलमेंट अक्टूबर, 2017 में खत्म हुआ था. भले ही पिछले 30 महीनों से चर्चा चल रही हो, लेकिन बैंक प्रबंधन और भारतीय बैंक संघ (आईबीए) वेतन में वृद्धि और कर्मचारियों पर भारी काम के बोझ को देखते हुए मांगों के निपटान के लिए आगे नहीं आए.

Budget 2020 : बजट दस्तावेजों की छपाई में व्यस्त अधिकारी ने पिता की मौत पर भी नहीं छोड़ी ड्यूटी 

First published: 31 January 2020, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी