Home » बिज़नेस » Cabinet approves 3,500 crore subsidy for sugar farmers amidst agitation in Delhi
 

दिल्ली में आंदोलन के बीच गन्ना किसानों को बड़ा तोहफा, 3,500 करोड़ की सब्सिडी को मंजूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2020, 16:05 IST

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने चीनी किसानों के लिए 3,500 करोड़ की सब्सिडी को मंजूरी दी है. एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि 60 लाख टन चीनी का निर्यात किया जाएगा. उन्होंने कहा कि चीनी पर कैबिनेट के फैसले से 5 करोड़ गन्ना किसानों को फायदा होगा और किसानों को सीधे उनके खाते में सब्सिडी मिलेगी.

मंत्री ने कहा "कैबिनेट ने सब्सिडी का पैसा सीधे किसानों के खातों में जमा करने में मदद करने का फैसला किया है. यह सब्सिडी 60 लाख टन चीनी निर्यात पर 6,000 प्रति टन की दर से दी जाएगी." जावड़ेकर ने आज जानकारी दी कि इस साल शक्कर का उत्पादन 310 लाख टन होगा. देश की खपत 260 लाख टन है. शक्कर का दाम कम होने की वजह से किसान और उद्योग संकट में है. इसको मात देने के लिए 60 लाख टन चीनी निर्यात करने और निर्यात को सब्सिडी देने का फैसला किया गया है.


उन्होंने कहा ''3500 करोड़ रुपए की सब्सिडी, प्रत्यक्ष निर्यात का मूल्य 18000 करोड़ रु. किसानों के खाते में जाएगा. इसके अलावा घोषित सब्सिडी का 5361 करोड़ रुपया एक सप्ताह में किसानों के खाते में जमा कर दिया जाएगा.''

 

किसान आंदोलन के बीच आज केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा ''ग्वालियर किसान सम्मेलन में पंजाब के किसानों को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है. दूसरी तरफ आप जैसे किसान नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों का समर्थन करने के लिए इकट्ठा हुए. मैं आप सब का स्वागत और अभिनंदन करना चाहता हूं.''

लॉकडाउन के दौरान ऑटो इंडस्ट्री को रोजाना हुआ 2,300 करोड़ का नुकसान- संसदीय समिति

 

First published: 16 December 2020, 15:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी