Home » बिज़नेस » CBI registered 2 new FIR against Absconding diamond merchant jatin mehta for Bank fraud
 

CBI ने फरार हीरा व्यापारी जतिन मेहता के खिलाफ की FIR दर्ज, नीरव मोदी के बाद इसने लगाया बैंकों को करोड़ों का चूना

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2019, 18:12 IST

नीरव मोदी के बाद CBI ने फरार हीरा कारोबारी जतिन मेहता के खिलाफ दो नई एफआईआर दर्ज की हैं. हीरा व्यापारी जतिन मेहता पर बैंकों से करोड़ों रूपये धोखाधड़ी करने का आरोप है. यह मामला यूनियन बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र की 587.55 करोड़ रुपये की कथित फ्रॉड की शिकायत से जुड़ा है.

इन दोनों सरकारी बैंकों की शिकायत के अनुसार मेहता की वजह से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को 264.15 करोड़ रुपये और बैंक ऑफ महाराष्ट्र को 323.40 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. इन बैंकों की शिकायत के आधार पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने मेहता और उसकी कंपनी ''विंसम डायमंड्स एंड ज्वेलरी'' के खिलाफ दो अलग-अलग FIR दर्ज की हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक बैंको को घोटाले की भनक लगने से पहले ही हीरा कारोबारी मेहता देश छोड़कर भाग गया था. उसके कैरिबयाई द्वीप में से एक सेंट किट्स पर होने की संभावना है. जांच एजेंसी ने बैंक ऑफ़ महाराष्ट्रा के हीरा कंपनी, उसके फाउंडर मेहता, पूर्ण कालिक डायरेक्टर रमेश पारेख और रविचंद्रन रामास्वामी, इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हरीश रतिलाल मेहता  के खिलाफ मामला दर्ज किया है. यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत पर हीरा कंपनी, जतिन मेहता, बॉम्बे डायमंड्स कंपनी लिमिटेड और ओबेदाहा को आरोपी बनाया है. 14 बैंकों के समूह ने विंसम डायमंड को 4,600 करोड़ रुपये की ऋण सुविधा दी थी.

First published: 11 June 2019, 18:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी