Home » बिज़नेस » CDBT directs Income Tax dept to add 12.5 million fresh filers this year
 

CDBT ने इनकम टैक्स को दिया निर्देश इस साल जोड़ें सवा करोड़ नए करदाता

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 July 2018, 16:01 IST

सीबीडीटी ने आयकर विभाग को देशभर से कम से कम 1.25 करोड़ नए करदाता जोड़ने का निर्देश दिया है. कर आधार को बढ़ाने के लिए सरकार के अभियान की दिशा में इस निर्देश को बड़ा कदम बताया जा रहा है. विभाग के पॉलिसी बनाने वाले निकाय ने अपनी पिछली पहलों के परिणामस्वरूप कहा कि 2017-18 वित्तीय वर्ष के दौरान आयकर नेट में 1.06 करोड़ नए करदाता जोड़े गए थे.

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार एक वरिष्ठ आई-टी फाइलर को नेट में जोड़ा गया एक नया टैक्सपेयर नहीं कहा जा सकता है क्योंकि एक व्यक्ति अपनी आय वापसी दर्ज कर सकता है लेकिन कर छूट नहीं दे सकता क्योंकि वे वैध छूट का दावा कर सकते हैं.

 

2018-19 के लिए नई केंद्रीय कार्य योजना (सीएपी) ने कहा भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है. संगठित और असंगठित क्षेत्रों दोनों में बढ़ती आर्थिक गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए देश के प्रत्यक्ष कर आधार को आगे बढ़ाने के लिए गुंजाइश है. इस वित्तीय वर्ष के दौरान बोर्ड (सीबीडीटी) ने 1.25 करोड़ नए रिटर्न फाइलर्स जोड़ने का एक समग्र लक्ष्य तय किया है.

सीएपी आयकर (आई-टी) विभाग के लिए नीति कार्रवाई दृष्टि दस्तावेज के रूप में कार्य करता है और केंद्रीय रूप से केंद्रीय कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा अनावरण किया जाता है. लक्ष्य के अनुसार कर विभाग के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र (जिसमें हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर पर अधिकार क्षेत्र है) को अधिकतम नए फाइलर्स 11,48,48 9 पर जोड़ने के लिए कहा गया है.

इसके बाद पुणे क्षेत्र 11,33, 9 50 और तमिलनाडु क्षेत्र 10,36,645 हैं. आंध्र प्रदेश और तेलंगाना क्षेत्रों को 10,40,218 नए फाइलर्स मिलेंगे. गुजरात (9, 88,101) और कर्नाटक और गोवा क्षेत्र (7,95,626) करदाता निलेंगे.

First published: 22 July 2018, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी