Home » बिज़नेस » Chanda Kochhar: CBI Transfe Sudhanshu Dhar Mishra who file FIR in ICICI Bank videocon case
 

ICICI: चंदा कोचर के खिलाफ FIR दर्ज करने वाले CBI अफसर का तबादला, जेटली ने दी थी ये नसीहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2019, 12:34 IST

ICICI बैंक की पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ चंदा कोचर पर वित्तीय अनियमितता के मामले में FIR दर्ज करने वाले सीबीआई अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया गया है. सीबीआई ने 3,250 करोड़ रुपये ऋण मामले में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था, जिसके बाद FIR पर हस्ताक्षर करने वाले CBI ऑफिसर सुधांशु धर मिश्रा का तबादला कर दिया गया है. गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस मामले में अपनी नाराजगी जाहिर की थी, अब इस अधिकारी को इस केस से हटाकर दूसरे जगह पोस्टिंग दी गई.

सुधांशु धर मिश्रा सीबीआई दिल्ली के बैंकिंग और प्रतिभूति धोखाधड़ी सेल के पुलिस अधीक्षक (एसपी) थे. अब उनका स्थानानंतरण केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की रांची, झारखंड में स्थित आर्थिक अपराध शाखा में कर दिया गया है. उन्होंने 22 जनवरी को ICICI -वीडियोकॉन मामले में चंदा कोचर, दीपक कोचर, वेणुगोपाल धूत और अन्य के खिलाफ एफआईआर पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके अगले दिन उनका ट्रांसफर कर दिया गया.

सरकार दे रही है मुफ्त ट्रेनिंग, दो महीने का कोर्स कर कमाएं 40 लाख रुपये सलाना

अरुण जेटली ने जताई थी नाराजगी

अरुण जेटली ने 25 जनवरी को चंदा कोचर मामले में सीबीआई को निशाने पर लिया था. जेटली ने सीबीआई को दुस्साहस से बचने तथा सिर्फ दोषियों पर ध्यान देने की नसीहत दी थी. अमेरिका में इलाज करा रहे जेटली ने ट्वीट किया कि ''भारत में दोषियों को सजा मिलने की दर खराब का एक कारण जांच और पेशेवर रवैए पर दुस्साहस एवं प्रशंसा पाने की आदत का हावी हो जाना है.'' उन्होंने आगे कहा, ''पेशेवर जांच और जांच के दुस्साहस में आधारभूत अंतर है. जब मैं ICICI मामले में संभावित लक्ष्यों की सूची पढ़ता हूं तो एक ही बात दिमाग में आती है कि टारगेट पर ध्यान देने के बजाय अंतहीन यात्रा का रास्ता क्यों चुना जा रहा है? यदि हम बैंकिंग इंडस्ट्री से हर किसी को बिना सबूत के जांच में शामिल करने लगेंगे तो हम इससे क्या हासिल करने वाले हैं या वास्तव में नुकसान उठा रहे हैं.''

First published: 27 January 2019, 12:13 IST
 
अगली कहानी