Home » बिज़नेस » Coal India raise in salary and pay arrears to some 20,000 staffers cost Rs 6,000 cr
 

कोल इंडिया के कर्मचारियों को बड़ी सौगात, कंपनी 6,000 करोड़ लुटाएगी सैलरी में

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2018, 13:03 IST

कोल इंडिया इस वित्तीय साल में 20,000 से अधिक कर्मचारियों के वेतन वृद्धि और बकाया राशि में 6,000 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है. वहीं कर्मचारियों की सैलरी में 32-37% कि बढ़ोतरी की जाएगी जो कॉरपोरेट सेक्टर में एवरेज से काफी ज्यादा है.

यह बढ़ोतरी कंपनी के तीन अलग-अलग प्रमुखों के अधीन होगी, जिसमें कंपनी को सलाना खर्च 2,500 करोड़ रुपये आएगा. इसके अलावा कंपनी पर साल 2018-19 के दौरान बकाया को चुकता करने में 3,500 करोड़ रुपये लगेंगे.

ये भी पढे़ें-भारत में लांच हुआ नया इलैक्ट्रिक स्कूटर, एक बार चार्ज होने पर चलेगा 80 किलोमीटर

इसके अलावा कर्मचारियों को अतिरिक्त पेंशन लाभ के लिए लगभग 10% अधिक बुनियादी और महंगाई भत्ता मिलेगा. इसके अलावा, अधिकारियों को इस साल 15% और 20% के बीच वेतन वृद्धि होने की संभावना है.

कोल मिनिस्टर ने कहा है कि बढ़ोतरी के पहले चरण में लगभग 10% की वृद्धि की जाएगी. कोल इंडिया के अधिकारी ने कहा है, क़ॉन्ट्रीब्यूशन पेंशन स्कीम एक नया स्कीम है और यह सिर्फ कोल इंडिया के अधिकारियों के लिए है. बता दें कि इसे जनवरी 2007 से लागु किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-जितना कमाने में मुकेश अंबानी को लग गई पूरी उम्र, इस शख्स ने कमाए 5 महीने में

इस स्कीम के तहत कोल इंडिया मैनेजमेंट एक पेंशन फंड के लिए 9.84% अतिरिक्त बुनियादी और मंहगाई भत्ता जमा करेगा. वही दूसरी कड़ी में मैनेंजमेंट बुनियादी और महंगाई भत्ते में 7% की वृद्धि करेगा, यह कर्मचारियों और अधिकारी के लिए है.

तीसरे और अंतिम कड़ी में कोल इंडिया बोर्ड के अधिकारियों को यह उम्मीद है कि अधिकारियों की सैलरी में 15% और 20% के बीच वृद्धि होने की संभावना है. हालांकि कोयला मंत्रालय में यह मामला अभी पैंडिंग है.

इस स्कीम के तहत कोल इंडिया मैनेजमेंट एक पेंशन फंड के लिए 9.84% अतिरिक्त बुनियादी और मंहगाई भत्ता जमा करेगा. वही दूसरी कड़ी में मैनेंजमेंट बुनियादी और महंगाई भत्ते में 7% की वृद्धि करेगा, यह कर्मचारियों और अधिकारी के लिए है.

तीसरे और अंतिम कड़ी में कोल इंडिया बोर्ड के अधिकारियों को यह उम्मीद है कि अधिकारियों की सैलरी में 15% और 20% के बीच वृद्धि होने की संभावना है. हालांकि कोयला मंत्रालय में यह मामला अभी पैंडिंग है.

First published: 6 June 2018, 13:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी