Home » बिज़नेस » consumers will have to pay more price for petrol and diesel on Tuesday because oil marketing companies have increased the dealer commission.
 

महंगाई में आग लगाने की तैयारी, नहीं कम होंगी पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी क़ीमतें

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2017, 15:34 IST

देश भर में मंगलवार से पेट्रोल-डीज़ल खरीदने पर लोगों को ज्यादा पैसा देना पड़ेगा. इसके बाद एक बार फिर महंगाई की मार पड़ना तय है, क्योंकि इनका रोजमर्रा की ज़िंदगी पर सीधा असर होता है. 

दरअसल, तेल मार्केटिंग कंपनियों ने पंप मालिकों को दिए जाने वाले डीलर कमीशन को बढ़ाने का फैसला किया है. ये कीमतें मंगलवार यानी 1 अगस्त से लागू होंगी. डीलर कमीशन ईंधन की कीमत का हिस्सा है, जिसका भुगतान उपभोक्ता करते हैं. 

पहले तेल मार्केटिंग कंपनियां इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और एचपी डीलरों को पेट्रोल पर प्रति लीटर 2.55 पैसे कमीशन देती थी, वहीं डीजल पर ये कमीशन 1.65 रुपये प्रति लीटर था. अब इसमें 1 रुपये और 72 पैसे की बढ़ोतरी की गई है. यह कमीशन पेट्रोल-डीजल की रिटेल सेल में जोड़ा जाता है और ग्राहकों से वसूला जाता है.

मंगलवार से रोजाना कमीशन बढ़ने पर पेट्रोल पर 3.55 पैसे और डीजल पर 2.37 पैसे प्रति लीटर देने होंगे. दरअसल पेट्रोल पंप डीलर 16 जून के बाद से अपना कमीशन बढ़ाने की मांग कर रहे थे. डीलर्स ने कहा था कि अगर उनका कमीशन नहीं बढ़ाया गया, तो फिर वो हड़ताल पर चले जाएंगे.

ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन (एआईपीडीए) के अध्यक्ष अजय बंसल ने बताया कि 16 जून से हर रोज पेट्रोल-डीजल के दाम घट रहे हैं, इस वजह से छोटे डीलरों को 400 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है.

उन्होंने सरकार से मांग की थी कि डीलरों के कमीशन का बचाव किया जाए. इसके साथ ही संगठन ने शत-प्रतिशत पंपों के ऑटोमेशन की मांग की है.

First published: 1 August 2017, 15:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी