Home » बिज़नेस » Coronavirus creates tea crisis worldwide, price hike likely
 

Coronavirus: कोरोना ने दुनियाभर में पैदा किया चाय का संकट, कीमतों में बढ़ोतरी की संभावना

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 April 2020, 15:24 IST

coronavirus: कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण दुनियाभर में चाय कारोबार पर असर पड़ने संभावना है. कोरोना वायरस महामारी के कारण टी इंडस्ट्री बुरी तरह प्रभावित हुई है. पांच देश चीन, भारत, केन्या, श्रीलंका और वियतनाम वैश्विक चाय निर्यात का 82 फीसदी हिस्सा हैं, लेकिन कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए सख्त प्रतिबंध के कारण शिपमेंट में देरी हो रही है.

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के उत्पादन में 2020 में 120 मिलियन किलोग्राम या 9 फीसदी की गिरावट की संभावना है. अंतर्राष्ट्रीय चाय समिति (आईटीसी) का अनुमान है कि भारत के 2020 निर्यात में 7 फीसदी की गिरावट आएगी. भारत के वाणिज्य मंत्रालय और चाय ब्रोकरों का कहना है कि मार्च में भारत से निर्यात 34 फीसदी घट गया और श्रीलंका से लगभग आधा हो गया. दुनिया का शीर्ष चाय निर्यातक केन्या ने मार्च में बड़ी गिरावट देखी है. हालांकि वियतनाम का उत्पादन भी काफी हद तक अप्रभावित रहने की उम्मीद है, लेकिन वह इसका बड़ा निर्यातक नहीं है.


एक रिपोर्ट के अनुसार रूस के प्रमुख चाय निर्माता ओरिमी ने कहा "भारत से शिपमेंट में एक महीने की औसत से देरी हुई है और अन्य देशों विशेषकर श्रीलंका में भी चाय की आपूर्ति में देरी हुई है." कच्ची चाय की कीमतें, जो रूस आयात करता है, प्री-लॉकडाउन के मुकाबले 30 फीसदी ज्यादा हो गई है. दुनिया की सबसे महंगी चाय के लिए जानी जाने वाली दार्जिलिंग हिल्स में भी स्थिति ख़राब है क्योंकि भारत में 3 मई तक लॉकडाउन है.

असम टी प्लांटर्स एसोसिएशन (ATPA) के अध्यक्ष नाज़राना अहमद ने कहा कि यात्रा प्रतिबंधों के बीच ट्रकों की कमी के कारण बंदरगाहों ले जाने में देरी हो रही है. उन्होंने कहा, "बहुत कम ट्रक उपलब्ध हैं और देश के पूर्वोत्तर में असम से पूर्वी भारत में कोलकाता के लिए चाय लाने के लिए उन्हें तीन दिनों के बजाय एक सप्ताह लग रहा है."

लॉकडाउन के बीच 6 रुपये महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, अब इस राज्य ने दिया लोगों को झटका

First published: 29 April 2020, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी