Home » बिज़नेस » Coronavirus crisis: people withdrawal Rs 280 crore from PF accounts, 1.37 lakhs
 

कोरोना संकट के बाद लोगों ने पीएफ खातों से निकाले 280 करोड़ रुपये, 1.37 लाख दावे किये गए

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2020, 17:23 IST

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने शुक्रवार को कहा कि उसने लॉकडाउन के दौरान ग्राहकों को राहत देने के लिए 280 करोड़ के प्रॉविडेंट फंड विदड्रॉल क्लेम को जारी किया है. श्रम मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने देशभर में करीब 1.37 लाख निकासी दावों पर कार्रवाई की है, जिसमें एक नए प्रावधान के तहत 279.65 करोड़ की राशि का भुगतान किया गया है.

सरकार ने ईपीएफ ग्राहकों को कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करने के लिए ईपीएफ योजना में संशोधन किया है. मंत्रालय ने कहा कि ईपीएफओ ने पिछले 10 दिनों में इन निकासी दावों का निपटारा किया है. वह उन सभी एप्लिकेशन को प्रोसेस किया जा रहा है जो 72 घंटे से कम समय के भीतर पूरी तरह केवाईसी (अपने ग्राहक को जान लें) का अनुपालन करते हैं.


 

मांग में भारी उछाल को देखते हुए ईपीएफओ पूरी तरह से नए सॉफ्टवेयर के साथ सामने आया है. मंत्रालय ने कहा कि COVID-19 महामारी ने एक गंभीर खतरा पैदा कर दिया है और इन कोशिशों में पैसे की सख्त जरूरत को देखते हुए COVID-19 महामारी से लड़ने के लिए अग्रिम भुगतान प्रक्रिया का निर्णय लिया गया. महामारी में अग्रिम लाभ लेने के दावे ऑनलाइन दायर किए जाते हैं, जिससे प्रत्येक ईपीएफ खाते को केवाईसी की आवश्यकता होती है.

28 मार्च 2020 को एक महत्वपूर्ण अधिसूचना के जरिये ईपीएफ योजना में पैरा 68 एल (3) शामिल किया गया है. इस प्रावधान के तहत तीन महीने के मूल वेतन और महंगाई भत्ते के बराबर या ईपीएफ खाते में सदस्य के खाते में पड़ी राशि के 75 प्रतिशत निकासी की जा सकती है. इस राशि को लौटाने की आवश्यकता नहीं है. मंत्रालय ने कहा कि सदस्य कम राशि के लिए भी आवेदन कर सकते हैं.

लॉकडाउन : भारत में पेट्रोल-डीजल की खपत में एक दशक की सबसे बड़ी कटौती

First published: 10 April 2020, 17:13 IST
 
अगली कहानी