Home » बिज़नेस » Coronavirus: Government may announce a package of 75,000 crores to revive industries
 

Coronavirus : उद्योगों में जान डालने के लिए सरकार कर सकती है 75,000 करोड़ के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2020, 9:43 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) संकट से भारत की आर्थिक विकास की दर पर विनाशकारी असर पड़ने की संभावना है. एक रिपोर्ट की माने तो सरकार उद्योगों को पुनर्जीवित करने के लिए एक बड़े प्रोत्साहन पैकेज का ऐलान कर सकती है. यह पैकेज छोटी और मध्यम इकाइयों को पुनर्जीवित करने के लिए 50,000 करोड़ से लेकर 75,000 करोड़ का हो सकता है. रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि अभी इसे अंतिम रूप दिए जाना बाकी है.

कहा गया है कि फंड का उद्देश्य औद्योगिक इकाइयों, विशेष रूप से सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) को उनकी पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए है ताकि वे लंबित ऑर्डर्स को शीघ्र पूरा कर सकें और भुगतान प्राप्त कर सकें. आर्थिक विकास पहले से ही धीमी थी और कोरोनो वायरस की शुरुआत से पहले ही कई प्रमुख क्षेत्र तनाव में थे. 1 फरवरी को संसद में पेश किए गए बजट में मार्च 2020 तक वर्ष में 5 फीसदी की आर्थिक वृद्धि का अनुमान लगाया था, जो 11 वर्षों में सबसे धीमी गति थी.


विश्लेषकों और अर्थशास्त्रियों का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था 2020-21 में अपनी सबसे धीमी गति से विस्तार करेगी. फिच रेटिंग्स को उम्मीद है कि यह 2 फीसदी बढ़ेगी, जो 30 वर्षों में सबसे धीमी है. नोमुरा ग्लोबल मार्केट रिसर्च को उम्मीद है कि कैलेंडर वर्ष 2020 के लिए अर्थव्यवस्था में 0.5% की वृद्धि होगी.

जानकारों का कहना है कि लॉकडाउन में ढील देने के बाद प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की जानी चाहिए. एक्सपर्ट का कहना है कि वर्तमान में सरकार को दो चीजों पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए - गरीबों के हाथ में नकदी और उन्हें भोजन की आपूर्ति. गोल्डमैन सैक्स ने बुधवार को वित्त वर्ष 2021 की वृद्धि दर 1.6 फीसदी घटा दी.

 कोरोना संकट: भारत में 40 करोड़ श्रमिकों के फिर से गरीबी में जाने का खतरा : ILO

First published: 9 April 2020, 9:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी