Home » बिज़नेस » Coronavirus: India lifts ban on hydrochloroquine, Trump demanded this drug
 

Coronavirus: भारत ने स्वीकार की ट्रंप की मांग, हाइड्रोक्लोरोक्वीन से हटाया एक्सपोर्ट बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2020, 14:17 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) महामारी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से एंटी-मलेरिया ड्रग हाइड्रोक्लोरोक्वीन के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाने की मांग की थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अब भारत ने इस दवा पर लगाया गया एक्सपोर्ट बैन आंशिक रूप से हटाने का फैसला किया है. कहा गया है कि यह निर्णय अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान के बाद लिया गया है, जिसमे उन्होंने कहा था कि अगर भारत इस दवा की आपूर्ति के अनुरोध को अस्वीकार कर देता है, तो इसका करारा जवाब दिया जायेगा.

ट्रंप ने कहा कि उन्होंने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन किया था और उनसे आग्रह किया था कि वह एंटी-मलेरिया ड्रग को रिलीज करें क्योंकि यह दवा COVID-19 के इलाज में गेम चेंजर साबित हो सकता है. इससे पहले कहा गया था कि अमेरिका ने भारत को हाइड्रोक्लोरोक्वीन का ऑर्डर दिया था. लेकिन भारत ने इसके निर्यात पर पाबन्दी लगा दी थी. राष्ट्रपति ट्रंप का कहना था कि भारत को उसके आर्डर की मांग को पूरा करना चाहिए.


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने कहा है कि भारत ने मानवता के आधार पर इससे निर्यात बैन हटा रहा है.ताकि अन्य की जरूरतों को भी पूरा किया जा सके. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव का कहना है ''भारत सरकार की पहली जिम्मेदारी अपने लोगों को हाइड्रोक्लोरोक्वीन का स्टॉक मुहैया कराना है. इसके बाद जरूरतमंद देशों को इसका निर्यात किया जाएगा''.

भारत में भी ICMR ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल की सिफारिश की थी. COVID-19 के लिए ICMR द्वारा गठित नेशनल टास्क फोर्स ने इस पर बैन लगाते हुए कहा था कि नोटिफिकेशन के जारी होने की तारीख से पहले या शिपमेंट के लिए पहले से प्राप्त किये गए भुगतान के मामलों में निर्यात की अनुमति दी जाएगी.

कोरोना वायरस: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर मांगी भारत से मदद, दवाईयां न भेजने पर जबावी कार्रवाई की धमकी

First published: 7 April 2020, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी