Home » बिज़नेस » Coronavirus Lockdown: Petrol, diesel and bus fares to be costlier in Haryana
 

Coronavirus Lockdown : हरियाणा में महंगा होगा पेट्रोल-डीजल और बसों का किराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2020, 11:10 IST

Coronavirus Lockdown : कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद राज्य सरकारों का बड़े राजस्व नुकसान का सामना करना पड़ रहा है. एक दिन पहले की खबर आयी थी कि राजस्थान ने शराब पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ने का फैसला किया है. अब हरियाणा सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर वैट बढ़ाने का फैसला किया है. वर्तमान में इंटरनेशनल बाजार में तेल की कीमतें लगातार कम हो रही हैं और तेल कंपनियों ने पिछले 40 दिन से पेट्रोल और डीजल की कीमत नहीं बढ़ाई है.

हरियाणा में इस बढ़ोतरी से पेट्रोल पर प्रति लीटर 1 रुपये और डीजल पर 1.1 पैसे का असर पड़ेगा. राज्य सरकार ने कैबिनेट बैठक के बाद यह घोषणा की. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर इस कदम की आलोचना की है. उन्होंने कहा इससे पेट्रोल- डीजल, बस किराया और फल सब्जियों की कीमत बढ़ेगी. हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने कहा कि संकट के समय में खट्टर सरकार लोगों पर बोझ डाला है. केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय का कहना है कि भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या बढ़कर 35,043 हो गई है. इसमें 25,007 सक्रिय मामले और 1,147 मौतें है. 8,889 लोगों को ठीक किया गया है. 


हरियाणा सरकार ने बस का किराया 15 पैसे प्रति किलोमीटर बढ़ाने का फैसला किया है. साधारण लग्जरी और सुपर लग्जरी बसों का किराया 85 पैसे प्रति यात्री प्रति किमी से बढ़ाकर 1 प्रति यात्री प्रति किमी कर दिया गया है ताकि बसों के संचालन की बढ़ती लागत को आंशिक रूप से पूरा किया जा सके. हरियाणा रोडवेज के पास लगभग 4,294 बसों का बेड़ा है और यह दैनिक आधार पर लगभग 10.38 लाख किमी का संचालन करती है. बयान में कहा गया है कि यह बेहद कम बढ़ोतरी है. 2010-11 में 25 प्रतिशत वृद्धि और 2012-13 में 20 प्रतिशत की वृद्धि की गई थी.

लॉकडाउन के बीच मोदी सरकार ने गरीबों के लिए खोला खजाना, 20 करोड़ लोगों को मुफ्त में दी जाएगी दाल

इससे पहले राजस्थान सरकार राजस्व नुकसान से निपटने के लिए शराब पर उत्पाद शुल्क 10 प्रतिशत बढ़ाने का निर्णय लिया था. इंडियन मेड फॉरेन लिकर (IMFL) की बोतल की कीमत 900 रुपये से कम है, जिस पर अब उत्पाद शुल्क अब 25 फीसदी के बजाय 35 फीसदी होगा. जिन बोतलों की कीमत 900 या उससे अधिक है, अब इन पर ड्यूटी 35 फीसदी के बजाय 45 फीसदी होगी.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने काटी कर्मचारियों की 50 फीसदी तक सैलरी : रिपोर्ट

First published: 1 May 2020, 11:07 IST
 
अगली कहानी