Home » बिज़नेस » Corporate war : Ambani-led RNEL filed a complaint with the Defense Ministry against a senior naval officer
 

अनिल अंबानी की रक्षा मंत्रालय में शिकायत, कहा- 20 हजार करोड़ का प्रोजेट छीनने की हो रही साजिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2018, 11:14 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' के तहत 20 हजार करोड़ की लागत वाले नौसेना के युद्धक विमान बनाने के सौदे पर ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है. एक रिपोर्ट की माने तो अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड (आरएनईएल) ने एक वरिष्ठ नौसेना अधिकारी के खिलाफ रक्षा मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई है.

इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस शिकायत में अनिल अंबानी समूह ने आरोप लगाया है कि नौसेना के एक अतिवरिष्ठ अधिकारी का बेटा लार्सन एंड टूब्रो (एलएंडटी) की रक्षा शाखा में कार्यरत है और वह सौदे की प्रक्रिया से जुड़ी अंदरूनी जानकारियां एलएंडटी तक पहुंचा रहा है. अनिल अंबानी समूह का आरोप है कि पक्षपात के जरिये इस सौदे को एलएनटी को दिलाने की कोशिश की जा यही है. रिपोर्ट के अनुसार अब रक्षा मंत्रालय ने मामले की अंदरूनी जांच शुरू कर दी है.

भारत में चार युद्धपोत बनाने का अनुबंध पिछले साल से लटका है जबकि इस मामले में जब एल एंड टी और आरएनईएल को रक्षा मंत्रालय द्वारा चुना गया था. रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में जिस अधिकारी का नाम आ रहा है जांच में अपनी राय भेजी है. अधिकारी वाइस एडमिरल पद पर तैनात बताया जाता है.

इस पूरे मामले में जहां आरएनईएल के प्रवक्ता ने माना, ‘हां, हमने इस मामले में आधिकारिक तौर पर शिकायत की है.’ जबकि एलएंडटी के प्रवक्ता का कहना था, ‘हमारी कंपनी इस तरह के किसी कृत्य में शामिल नहीं होती. हमारी कंपनी के मूल्य और सिद्धांत ऐसे अनैतिक कृत्यों की इजाज़त नहीं देते.’ नौसेना की ओर से अभी इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है.

ये भी पढ़ें : NPA : वित्त वर्ष 2017-18 में बैंकों ने रिकॉर्ड 1.44 लाख करोड़ बट्टे खाते में डाले

First published: 15 June 2018, 11:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी