Home » बिज़नेस » cryptocurrency business 400% jump in during COVID-19 lockdown
 

COVID-19 लॉकडाउन के दौरान क्रिप्टोकरेंसी के कारोबार में 400 फीसदी का उछाल, जानिए कारण

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2020, 14:08 IST

देश में कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के दौरान लागू लॉकडाउन के दौरान पिछले कुछ महीनों के दौरान क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के कारोबार में 400 फीसदी से ज्यादा की वृद्धि देखने को मिली है. माना जा रहा है कि 2020 की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट द्वारा क्रिप्टोकरेंसी के कारोबार पर प्रतिबंध हटाने के बाद क्रिप्टोकरेंसी के कारोबार में उछाल का सबसे बड़ा कारण है. द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 3 महीनों के दौरान क्रिप्टोकरेंसी के कारोबार में कई नए खिलाडियों और रिटेल इन्वेस्टर ने कदम रखा है.

रिपोर्ट के अनुसार ब्ल़ॉकचेन एंड क्रिप्टोकरेंसी कमिटी ऑफ द इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) के पूर्व प्रमुख और Zebpay के पूर्व सीईओ अजीत खुराना ने कहा “इसके व्यापार पर प्रतिबंध हटाने के साथ-साथ, लॉकडाउन ने भी लोगों को घर पर रहने के लिए प्रेरित किया है और कई लोग अपने डेस्कटॉप पर अधिक समय बिता रहे हैं और उनमें से कई अधिक कारोबार कर रहे हैं. ट्रेडिंग वॉल्यूम काफी मजबूत हैं. भारत में दैनिक क्रिप्टो ट्रेडिंग वॉल्यूम USD10-USD30 मिलियन हो सकता है.


इस आकंड़े को देखते हुए क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग को एक वैध असेट क्लास और कमर्शियल एक्टिविटी बनाने के पक्ष में पर्याप्त तर्क हैं''. जानकारों का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी कारोबार में और ज्यादा लोगों के शामिल होने की उम्मीद लगाई जा रही है. WazirX के फाउंडर और सीईओ निश्चल शेट्टी के अनुसार कंपनी में सदस्यता लेने वाली की संख्या में हाल के दिनों में 3 से 4 गुना बढ़ी है. उन्होंने कहा कि इस बढ़ोतरी का एक मात्र कारण कोरोना वायरस लॉक डाउन है.

Gold Price Update : आज फिर बढ़ी गोल्ड की कीमतें, जानिए कहां कितने हैं सोने- चांदी की भाव

शेट्टी ने कहा कि बहुत सारे लोग ऑनलाइन पैसा कमाने के नए रास्ते तलाश रहे हैं, क्योंकि अभी उनके पास नौकरी नहीं है या उनकी नौकरियां ऑफलाइन हैं और वे काम पर नहीं जा सकते. हालांकि नियमों पर स्पष्टता की कमी और क्रिप्टोकरंसी पर प्रतिबंध लगाने के संभावित कानून की रिपोर्ट एक चिंता का विषय है. सरकार ने पिछले साल भारत में क्रिप्टोकरेंसी की सिफारिश की थी, जिसमें जोखिम और कीमतों में अस्थिरता का हवाला दिया गया था. शेट्टी ने कहा कि इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) क्रिप्टोकरेंसी के लिए आचार संहिता पर काम कर रहा है.

Petrol Diesel Price: दिल्ली में पहली बार डीजल की कीमत 81 रुपये के पार, ये हैं आज तेल के रेट

First published: 13 July 2020, 14:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी