Home » बिज़नेस » currency falling worldwide compared to the dollar, these countries currency declined 100% while rupee declined 28.17 in this five year
 

करेंसी की गिरावट ने तोड़ी इन देशों की कमर, रूस-अर्जेंटीना सहित इन 5 देशों की मुद्रा 100% लुढ़की

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2018, 16:56 IST
(प्रतीकात्मक फोटो )

डॉलर के मुकाबले कमजोर होते रुपया ने भारत की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. रुपया गिरवाट में हर रोज लगातार नए नए रिकॉर्ड बना रहा है. सोमवार को रुपये ने 72.67 प्रति डॉलर के साथ एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाया. हालांकि मंगलवार को रुपये में थोड़ी मजबूती जरूर देखने को मिली है, लेकिन अभी भी रुपया 72 के पार ही बना हुआ है.

लगातार रुपये का कमजोर होना भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं है. इसने भारतीय इकॉनोमी के सामने कई चुनौती खड़ी कर दी हैं. इतना ही नहीं कमजोर होते रुपये ने सरकार के माथे पर भी चिंता की लकीरें खींच दीं हैं. वहीं लगातार गिर रहे रुपये को लेकर राजनीति भी तेज हो गई है.

विपक्ष रुपये की गिरावट को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोल रहा है. हालांकि रुपया अकेला नहीं है जो कमजोर हो रहा हैं. बल्कि दुनिया के कई देश इस समस्या से जूझ रहे हैं. कई देशों की करेंसी में 100 फीसदी तक की गिरावट आई है. कमजोर होती करंसी ने कई देशों की कमर तोड़ दी है. तुर्की व वेनेजुएला में जारी आर्थ‍िक संकट ने कई देशों की मुद्राओं की कमर तोड़ी दी है.

 मीडिया खबरों के अनुसार, पिछले पांच साल में डॉलर के मुकाबले रुपये में 15.52 फीसदी की गिरावट आई है. लेकिन अन्य देशों के मुकाबले ये गिरावट कहीं नहीं टिकती है. कई देश ऐसे हैं जिनकी करेंसी में 100 फीसदी की गिरावट देखी गई है. पिछले पांच साल में अर्जेंटीना की करंसी में सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई है. अर्जेंटीना की करंसी डॉलर के मुकाबले 546.72 फीसदी गिरी है. इसके बाद तुर्कीश लीरा की करंसी का नंबर आता है. तुर्कीश लीरा की करंसी में 221 फीसदी आई है.

करंसी की गिरावट ने रूस को भी प्रभावित किया है. रूस की करंसी पिछले पांच सालों में 117.41 फीसदी तक गिर गई है. वह करंसी की गिरावट के मामले में तीसरे नंबर है. इसके बाद ब्राजील की मुद्रा रियल 84 फीसदी, दक्ष‍िण अफ्रीका की रैंड 51.42 फीसदी, मेक्स‍िकन पेसो 47.15 फीसदी, इंडोनेश‍ियाई रुपया में 28.17 फीसदी गिरावट आई है.

डॉलर के मुकाबले दुनिया के कई देशों की करंसी कमजोर हुई है. इसके पीछे तुर्की व वेनेजुएला में जारी आर्थ‍िक संकट को माना जा रहा है. तुर्की व वेनेजुएला के आर्थिक संकट ने दुनिया के सामने एक अलग चुनौती खड़ी कर दी है. अंतरराष्ट्रीय स्तर बन रहे इन हालातों ने कई देशों की कमर को तोड़ के रख दिया है.

ये भी पढें- रुपया पहुंचा 72.18 रूपये प्रति डॉलर के नए रिकॉर्ड स्तर पर

First published: 11 September 2018, 16:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी