Home » बिज़नेस » Debit and Credit Card Transaction upto 10 thousand rupees may be free
 

डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पैमेंट करने वालों के लिए अच्छी खबर, 10,000 का लेनदेन हो सकता है मुफ्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 September 2019, 15:12 IST

अगर आप डेबिट या क्रेडिट कार्ड से लेन-देन करते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. क्योंकि जल्द ही ऐसे लोगों के लिए राहत भरी घोषणा हो सकती है. क्योंकि जल्द ही डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से 10 हजार रुपये तक की खरीदारी करने पर लगने वाले शुल्क को खत्म किया जा सकता है. दरअसल, सरकार ऐसा कर लेनदेन करने में डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देना चाहती है.

बता दें कि मध्य प्रदेश में काम कर रहे बैंकों ने अपने ब्रांच मैनेजर्स से मिले फीडबैक के आधार पर स्टेट लेवल कमेटी (SLC) ने भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक से इस बारे में सिफारिस की है. इसके बाद राज्य के सरकारी, प्राइवेट, सहकारी और ग्रामीण क्षेत्रीय बैंकों के मैनेजर्स से मिली सलाह के बाद बैंकों ने ये सिफारिश की है.

बता दें कि वर्तमान में अगर आप डेबिट या क्रेडिट कार्ड से प्वाइंट ऑफ सेल या स्वैप मशीन से पेमेंट करते हैं तो 2000 रुपये का पैमेंट करने पर बैंक 0.4 फीसदी या 8 रुपये का मर्चेंट डिस्काउंट रेट लेते हैं. वहीं बड़े इतने पैमेंट पर आपसे 0.9 फीसदी यानी 18 रुपये का एमडीआर लेते हैं.

वहीं प्वाइंट ऑफ सेल या कार्ड स्वैप मशीन से बीस हजार रुपये तक की खरीदारी करने पर छोटे दुकानदार से बैंक 0.4 फीसदी या 80 रुपये का मर्चेंट डिस्काउंट रेट लेते हैं. वहीं बड़े दुकानदार 0.9 फीसदी यानी 160 रुपये का एमडीआर लेते हैंबता दें कि 20 लाख रुपये तक के टर्नओवर वाले दुकानदार छोटे दुकानदार की श्रेणी में आते हैं. इसके अलावा 20 लाख से ज्यादा के टर्नओवर वाले दुकानदार बड़े दुकानदारों की श्रेणी में आते हैं.

गौरतलब है कि फिलहाल, एमडीआर दुकानदार और बैंक के बीच कारोबारी लेनदेन होता है. तो इसका भार ग्राहकों पर ही डाला जाता है. दुकानदार ग्राहक से कार्ड के जरिए भुगतान पर लगने वाला शुल्क ग्राहकों से ही वसूलते हैं. वहीं क्यूआर कोड के जरिए भुगतान कराने वाली कंपनियां कैश बैक के जरिए यह शुल्क दुकानदार को लौटा देती हैं.

Apple भारत के इस शहर में खोलने जा रहा है अपना पहला रिटेल स्टोर

First published: 2 September 2019, 15:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी