Home » बिज़नेस » Delhi HC dismisses petition seeking records from the oil companies to the rationale behind fuel pricing
 

हाईकोर्ट ने ख़ारिज की तेल कंपनियों से मूल्य निर्धारण की जानकारी मांगने वाली याचिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 September 2018, 12:15 IST

दिल्ली हाई कोर्ट ने तेल कंपनियों से रिकॉर्ड मांगने सम्बंधित याचिका खारिज कर दी है. इस याचिका में तेल कंपनियों के तेल के मूल्य निर्धारण के पीछे के फॉर्मूले की जानकारी मांगी गई थी. यह भी जानकारी मांगी गई थी कि क्या बढ़ोतरी उन्हें गलत तरीके से लाभान्वित कर रही है या नहीं. दिल्ली के डिजाइनर पूजा महाजन ने अपने वकील ए मैत्री के माध्यम से दायर की थी. याचिकाकर्ता ने कहा कि लोग इससे दुखी हैं क्योंकि कीमतें बढ़ाई जा रही हैं.

 

वकील ने कहा कि तेल कंपनियां अपने पुराने स्टॉक पेट्रोल और डीजल को बढ़ी हुई कीमतों पर बेच रही थीं, जबकि माना जाता है कि स्टॉक सस्ते सस्ते दर पर खरीदा गया था. आधिकारिक दावों के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय कीमतों में वृद्धि के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमतें तय की गई हैं. माना जाता है कि कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमत बैरल आधार पर तय की गई है.

हालांकि बुधवार को देश की राजधानी दिल्ली समेत चारों महानगरों में पेट्रोल के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया है. बुधवार को नर्इ दिल्ली, कोलकाता, मुंबर्इ आैर चेन्नर्इ में पेट्रोल की कीमत क्रमशः 82.16, 84.01 आैर 89.54 रुपए प्रति लीटर रही. वहीं चेन्नर्इ में पेट्रोल के दाम 85.41 रुपए प्रति लीटर रही.

ये भी पढ़ें : अब Vistara भी शामिल हुई सस्ते हवाई टिकटों की दौड़ में, पेश किया सबसे सस्ता ऑफर

First published: 19 September 2018, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी