Home » बिज़नेस » Delhi High Court denies Jet Airways founder Naresh Goyal permission to fly abroad
 

जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल को नहीं मिली विदेश जाने की अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 July 2019, 13:37 IST

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल को विदेश जाने की अनुमति देने से इनकार कर दिया. हालांकि अदालत ने उनकी याचिका पर केंद्र को नोटिस जारी कर किया. याचिका में लुकआउट नोटिस को चुनौती दी गई थी. न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने गोयल से कहा कि अगर वह विदेश यात्रा करना चाहते हैं तो उन्हें अदालत में 18,000 करोड़ रुपये जमा करने होंगे.

अदालत गोयल की याचिका को इस आधार पर लुकआउट सर्कुलर को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी कि 25 मई को दुबई जाने वाली फ्लाइट से उड़ान भरने के दौरान उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था. लुकआउट सीएफओ कार्यालय द्वारा जारी किया गया था, जो कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अंतर्गत आता है.

सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन ऑफिस ने गोयल को 10 जुलाई को पेश होने के लिए तलब किया है. मंत्रालय ने जेट एयरवेज में बड़े पैमाने पर अनियमितता पाए जाने के बाद गोयल के खिलाफ सर्कुलर जारी किया था. गोयल और उनकी पत्नी ने मार्च में जेट एयरवेज से इस्तीफा दे दिया था, लेकिन एयरलाइन ने बड़े पैमाने पर कर्ज के बाद अप्रैल में परिचालन स्थगित कर दिया.

नरेश गोयल एयरलाइन के चेयरपर्सन थे और इस्तीफा देने के समय बोर्ड में भी थे. अनीता गोयल जेट एयरवेज बोर्ड में भी थीं. दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायाधीश विभु बाखरू ने 5 जुलाई को मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया था, लेकिन यह नहीं बताया कि उन्होंने ऐसा क्यों किया.

मोदी सरकार ने बढ़ा दिया प्रिंट मीडिया का संकट, ड्यूटी हटाने की हो रही मांग

First published: 9 July 2019, 13:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी