Home » बिज़नेस » Dhanteras 2018 : Jewellery Shop In Surat Selling Gold And Silver Bars With PM Modi And Former PM Atal Bihari Vajpayee Face
 

धनतेरस पर यहां मोदी और अटल के मुखौटों से गुलजार है गोल्ड का बाजार

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 November 2018, 12:53 IST

धनतेरस पर सोना खरीदना शुभ माना जाता है. कुछ लोग धनतेरस पर आभूषण तो कुछ लोग लक्ष्मी-गणेश भगवान की तस्वीरों वाले सोने व चांदी के बिस्कुट और सिक्के खरीदते हैं. दिवाली के दिन लक्ष्मी-गणेश वाले सिक्कों या बिस्कुट और सोने चांदी के आभूषणों की पूजा की जाती है. वहीं बिक्री बढ़ाने के लिए ज्वैलर्स धनतेरस पर तरह-तरह के प्रयोग करते रहते हैं.

ये भी पढ़ें- बंद घड़ी को घर में रखने से होते हैं ये दुष्प्रभाव, वैवाहिक जीवन हो जाता है बर्बाद

इसी कड़ी में इस बार सूरत के ज्वैलर्स ने ऐसे सोने व चांदी के बार पेश किए हैं. जिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर बनी हुई है. इस बार इस तरह के गोल्ड बार की बिक्री भी खूब हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की तस्वीर वाले बार भी दुकान में मौजूद हैं.

बताया जा रहा है कि दुकान में इस सोने के बार खरीदने वालों की लाइन लगी हुई है. इन लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए काफी कुछ किया है. ऐसे में वो भी भगवान की तरह ही हैं. ऐसे में लोग इन सोने के बार को खरीद कर इस बार उनकी पूजा भी करना चाहते हैं.

सूरत के इस ज्वैलर ने दुकान में खुले में नरेंद्र मोदी की तस्वीर वाले सोने व चांदी के बार व बिस्कुल दुकान में रखे हैं. इनका वजन 10 ग्राम से ले कर एक किलो तक है. दुकान में आने वाले लोगों के लिए ये सोने व चांदी के बिस्कुट व बार आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं.

ये भी पढ़ें- ये है धनतेरस का शुभ मुहूर्त, इस समय खरीददारी करने से घर आएगी लक्ष्मी

बता दें कि दिवाली से पहले सोने की मांग बढ़ने बढ़ने से सोना करीब 6 साल के उच्चतम स्तर 32,780 रुपये को छूने के बाद सप्ताह के अंत में 32,650 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया. हालांकि चांदी को जरूरी लिवाली समर्थन नहीं मिला और इसकी कीमत में कुछ गिरावट आई. बाजार सूत्रों ने कहा कि आगामी त्योहार और शादी विवाह के मौसम की वजह से आभूषण निर्माता लगातार सोने की खरीददारी कर रहे हैं. खरीददारी बढ़ने से सोना 32,780 रुपये प्रति 10 ग्राम के लगभग 6 वर्ष के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा.

ये भी पढ़ें-

First published: 5 November 2018, 12:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी