Home » बिज़नेस » Diamond Industry Workers Are In Danger One Lakh Peoples May Loose Their Job
 

इस फील्ड के कर्मचारियों पर मडंरा रहा है खतरा, एक लाख लोगों की जा सकती है नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 October 2018, 14:06 IST

हीरा कारोबार का बाजार इनदिनों मुश्किलों से गुजर रहा है. इसीलिए हीरा कारोबार से जुड़े लोगों पर बेरोजगारी के बादल मंडराने लगे हैं.जानकारों का मानना है कि अगले 6 महीनों में देश की डायमंड इंडस्ट्री से जुड़े हर 5 में एक शख्स पर बेरोजगार होने का खतरा मंडरा रहा है. इंडस्ट्री के सीनियर एग्जीक्यूटिव्स के मुताबिक, कट और पॉलिश्ड डायमंड पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढऩे से री-कटिंग और री-डिजाइन का कारोबार चीन और थाईलैंड जैसे प्रतिस्पर्धी बाजारों में शिफ्ट हो रहा है.

ज्यूलरी एक्सपोर्ट प्रोमोशन कौंसिल यानि GJEPC के वाइस चेयरमैन कोलिन शाह ने इस बारे बताया कि अगली 2 तिमाहियों में ड्यूटी बढने, कारोबारी मुश्किलों और नकदी की कमी से सूरत में करीब 1 लाख लोगों की नौकरियां जाने का डर है. पहले देश में जो डायमंड री-कटिंग के लिए आते थे, वे अब चीन और थाईलैंड जा रहे हैं. हीरा इंडस्ट्री के अनुमानों के मुताबिक देश में करीब 5 लाख लोग डायमंड ट्रेड से जुड़े हैं.

बता दें कि सरकार ने करंट अकाउंट डैफिसिट (CAD) कम करने के लिए गैर-जरूरी उत्पादों पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ाने का फैसला किया था और 26 सितम्बर को कट और पॉलिश्ड डायमंड्स पर इम्पोर्ट ड्यूटी को 5 से बढ़ाकर 7.5 प्रतिशत कर दिया गया था. शाह ने कहा कि कैश की कमी से कोई राहत नहीं मिल रही है, क्योंकि कोलैटरल नॉम्र्स और रेटिंग नॉर्म्स कड़े हो गए हैं.

बता दें कि मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 6 महीने में कट और पॉलिश्ड डायमंड का आयात 31.83 प्रतिशत गिरकर 5,289.35 करोड़ रुपए रह गया है. वहीं पिछले साल समान अवधि में यह 7,759.48 करोड़ रुपए था. यही नहीं घरेलू बाजार में भी डायमंड्स की बिक्री भी कम हुई है. शाह का कहना है कि केरल में बाढ़ और मार्केट में सुस्ती से 2018-19 की पहली छमाही में बिक्री पर बुरा असर पड़ा है.

ये भी पढ़ें- 31 अक्टूबर से आप SBI के एटीएम से निकाल पाएंगे सिर्फ इतनी रकम

First published: 27 October 2018, 14:06 IST
 
अगली कहानी