Home » बिज़नेस » Diesel Price; Kejriwal's gift to Delhi, diesel cheaper by 8 rupees
 

Diesel Price ; दिल्ली को केजरीवाल का तोहफा, 8 रुपये सस्ता किया डीजल

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2020, 14:37 IST

Diesel Price : दिल्ली सरकार ने डीजल पर वैल्यू एडेड टैक्स (वैट) Value Added Tax (VAT) को कम करने का फैसला किया है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में डीजल की कीमतों में भारी राहत मिलने की संभावना है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा ''दिल्ली कैबिनेट ने डीजल पर वैट को 30 फीसदी से घटाकर 16.75 फीसदी करने का फैसला किया गया है. अब दिल्ली में डीजल की कीमत 82 रुपये से घटकर 73.64 रुपये प्रति लीटर यानी 8.36 रुपये प्रति लीटर कम हो जाएगी.”

केजरीवाल ने कहा “यह दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए हमारी सरकार द्वारा किए गए कई उपायों में से एक है. इस हफ्ते की शुरुआत में हमने नौकरी ढूंढ रहे लोगों को जोड़ने के लिए एक पोर्टल लॉन्च किया था.” उन्होंने कहा ''दिल्ली में 2-3 दिन पहले लॉन्च किए जॉब पोर्टल पर अब तक करीब 7,577 कंपनियों ने रजिस्टर किया है और 2,04,785 नौकरियों के विज्ञापन दिए गए हैं''.


मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कि दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए और अधिक तरीकों पर चर्चा करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर कई उद्योग समूहों और विशेषज्ञों के साथ बात करेंगे. केजरीवाल ने कहा ''मैं आने वाले दिनों में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए व्यापारियों से मिलूंगा और अगर उनकी और भी कोई समस्या होगी तो उसको ठीक करने की कोशिश करेंगे''.

 

पड़ोसी राज्यों की तुलना में दिल्ली में डीजल पर अधिक वैट था. सरकार ने लॉकडाउन के दौरान सरकार की आमदनी कम होने के कारण वैट बढ़ाया गया था. देश भर के लगभग 15 राज्यों ने डीजल पर वैट बढ़ाया था. मई में केंद्र ने पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 10 प्रति लीटर और डीजल पर 13 पेट्रोल लीटर बढ़ाकर एक बार में राजस्व संग्रह किया था क्योंकि तब वैश्विक तेल की कीमतें बेहद कम थीं.

Income tax deadline: कोरोना के चलते 2 महीने बढ़ी इनकम टैक्स फाइल करने की आखिरी तारीख

7 जून से पहले तेल कंपनियों ने 82 दिनों के लिए पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई संशोधन नहीं किया, क्योंकि उन्होंने सरकार द्वारा उत्पाद शुल्क में रिकॉर्ड वृद्धि को समायोजित किया था, जो कि अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में गिरावट के कारण दो साल के निचले स्तर पर आ गई थी.

गोल्ड डिमांड 26 साल के निचले स्तर पर पहुंचने की उम्मीद, अप्रैल-जून तिमाही 70 प्रतिशत गिरी

 

First published: 30 July 2020, 14:28 IST
 
अगली कहानी