Home » बिज़नेस » Diesel smuggling from Dubai, DRI did big disclosures, five held
 

दुबई से ऐसे हो रही है डीजल की तस्करी, DRI ने किया बड़ा खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 April 2018, 13:38 IST

डीआरआई के अधिकारियों ने दुबई से 17.7 करोड़ रुपये की डीजल तस्करी करने वाले रैकेट को पकड़ा है. ये रैकेट कुछ शहर आधारित कंपनियों को डीजल आयात कर रहा था. डीआरआइ का कहना है कि तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में डीआरआई की जांच के दौरान राजस्व खुफिया अधिकारियों ने 17 अप्रैल को चेन्नई बंदरगाह पर 'मिनिरल स्पिरिट' को जब्त कर लिया.

चेन्नई पोर्ट पर 'मिनिरल स्पिरिट' से पोर्ट पर 14 कंटेनरों से कुल 263.78 मीट्रिक टन (लगभग तीन लाख लीटर)डीजल जब्त किया गया.

डीआरआई जांच से पता चला कि फॉरन ट्रेड पॉलिसी के अनुसार डीजल के आयत पर प्रतिबंधित है और इसे केवल तेल कंपनियों ही आयात कर सकती हैं इसलिए प्रतिबंध से बचने के लिए ये लोग मिनिरल स्पिरिट के नाम पर डीजल आयात कर रहे थे.

इन लोगों ने कस्टम ड्यूटी से बचने के लिए कंटेनरों में इम्पोर्ट किये गए माल की कीमत कम बताई. आयात के बाद इस डीजल को चेन्नई, ओंगोल, काकीनाडा और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में वितरण के लिए ग्रे बाजारों में ले जाया जाता है.

डीजल इम्पोर्ट करने वाले ये लोग दुबई में फर्जी कंपनियों के 'झूठे दस्तावेज' और 'चालान' बनाकर चेन्नई में डीजल खरीदने और आयात करने के लिए का काम कर रहे थे. एक्ट, 1962 के तहत इस मामले में संदिग्ध समेत पांच व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

ये भी पढ़ें : ऐसे खेला मोदी सरकार ने तेल पर खेल, दक्षिण एशिया में सबसे ज्यादा टैक्स

दूसरी ओर रविवार को पेट्रोल की कीमत 74.40 रुपये प्रति लीटर हो गई. ये कीमतें बीजेपी की अगुआई वाली सरकार के कार्यकाल में सबसे उच्चतम हैं. दूसरी ओर डीजल की कीमत भी 65.65 रुपये के रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. अब लोगों की मांग है कि सरकार को इससे निपटने के लिए उत्पाद शुल्क में कटौती करनी चाहिए. रविवार को सरकारी तेल कंपनियां ने दिल्ली में पेट्रोल और डीजल दरों में 19 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जिसके बाद कीमतें इस उच्च स्तर पर पहुंच.

First published: 22 April 2018, 13:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी