Home » बिज़नेस » digital record of aadhaar,pan card and passport may become neccasary of air ticket booking.
 

डिजिटल पहचान नहीं होेने पर हवाई सफ़र से रह जाएंगे महरूम

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2017, 16:39 IST

एयरपोर्ट पर अगले तीन से चार महीनों में हवाई सफर के लिए टिकट बुकिंग करते समय आधार, पैन कार्ड या पासपोर्ट जैसी डिजिटल पहचान जानकारियां साझा करना अनिवार्य हो जाएगा.  ऐसा एयरपोर्ट पर यात्रा को कागज रहित और सुगम बनाने के लिए किया जाएगा.

नागर विमानन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने गुरुवार को कहा, "'मंत्रालय की योजना हवाई यात्रा टिकट बुक कराते वक्त विशेष डिजिटल पहचान शुरू करने की है." मौजूदा समय में हवाई यात्रियों को हवाई अड्डे पर प्रवेश के समय अपने पहचानपत्र की एक प्रतिलिपि (फोटोकॉपी) रखने की आवश्यकता होती है.

जयंत सिन्हा ने कहा कि सरकार ने एक तकनीकी समिति गठित की है, जो 30 दिन के भीतर एक श्वेत पत्र तैयार करेगी. सिन्हा ने कहा, "विशिष्ट पहचान सुनिश्चित करने के लिए बहुत से रास्ते हैं. साफ तौर पर इसके लिए आधार संख्या के माध्यम से पहचान सबसे उचित तरीका है और अन्य तरीकों में पैन संख्या या पासपोर्ट संख्या शामिल हैं."

उन्होंने कहा कि इस पहल के तहत आधार को अनिवार्य नहीं बनाया जाएगा, बल्कि इसे डिजिटल पहचान के अन्य विकल्पों में से एक के तौर पर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि यह एक ऐच्छिक पहल है न कि अनिवार्य. यात्रियों के पास अभी भी बोर्डिंग पास के साथ यात्रा करने का विकल्प है, जो उनकी इच्छा पर निर्भर करता है.

जयंत सिन्हा ने कहा कि जो आधार के माध्यम से टिकट बुक कराएंगे, उन्हें हवाई अड्डों पर सिर्फ आंखों या उंगली का स्कैन करना होगा और जो लोग आधार के अलावा अन्य वैकल्पिक दस्तावेज उपलब्ध कराएंगे, उन्हें उनके मोबाइल पर एक क्यूआर कोड भेजा जाएगा जो हवाई अड्डों पर स्कैन किया जाएगा.

First published: 9 June 2017, 16:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी