Home » बिज़नेस » doklam standoff: -chinese mobile company vivo and oppo is returning back their 400 chinese employees to china.
 

डोकलाम विवाद के बाद चीनी कंपनियों के 400 से अधिक एंप्लॉयीज ने छोड़ा भारत

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 August 2017, 13:35 IST

सिक्किम की सीमा में जारी डोकलाम विवाद के बाद चीनी कंपनियां अपने कर्मचारियों को वापस चीन भेज रही है. चीन की मोबाइल कंपनी ओपो और वीवो में काम करने वाले 400 से अधिक चीन के नागरिक वापस अपने देश लौट रहे हैं. 

चीनी मोबाइल हैंडसेट ब्रैंड्स के मालिकाना हक वाली तीन दर्जन डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों से ज्यादातर लोग वापस गए हैं, लेकिन इंडस्ट्री एग्जिक्यूटिव्स का कहना है कि भारत में ओपो और विवो के कुछ चीन के एंप्लॉयीज भी देश वापस लौटे हैं. भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में जुलाई और अगस्त के दौरान Oppo और Vivo की सेल 30 फीसदी तक गिरी है.

अंग्रेजी अखबार इकोनोमिक टॉइम्स के मुताबिक कंपनी का मानना है कि भारत से कर्मचारी हटाने का कदम उसने जुलाई और अगस्त के दौरान स्मार्टफोन सेल में गिरावट के चलते उठाया है. कंपनी का ये भी आरोप है कि भारतीय बाजार में चीनी उत्पाद विरोधी मानसिकता के चलते उसकी सेल में गिरावट तेजी से गिरावट आ रही है. 

गौरतलब है कि इस महीने चीन के भारत में काम करने वाले सबसे हाई प्रोफाइल नागरिक विवेक झांग वापस लौट गए थे. वह कंपनी के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर थे और उन्होंने आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप की डील की बातचीत में अग्रणी भूमिका निभाई थी.

इस खबर के लिए ईमेल से पूछे जाने वाले सवालों का जवाब वीवो ने नहीं दिया, जबकि ओपो इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि हम भारत सरकार के नियम कायदों के मुताबिक काम करते हैं और मार्केट की अफवाहों से प्रभावित नहीं होते.

हालांकि चीनी कर्माचारियों के लौटने की एक वजह यह भी बताई जा रही है कि चीन के नागरिकों को भारत में कम अवधि का वीजा मिल रहा है. 

First published: 28 August 2017, 13:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी