Home » बिज़नेस » Donald Trump slams cryptocurrencies : I am not a fan of Bitcoin
 

क्रिप्टोकरेंसी पर बरसे ट्रंप : कहा- फेसबुक और अन्य कंपनियां बैंक बनना चाहती हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2019, 11:19 IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बिटकॉइन और फेसबुक के प्रस्तावित लिब्रा डिजिटल कॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी की आलोचना की है. ट्रंप ने इन कंपनियों से कहा कि यदि वह बैंक बनना चाहते हैं तो बैंकिंग चार्टर की तलाश करें जो वैश्विक नियमों के अधीन हैं. ट्रम्प ने ट्विटर पर लिखा "मैं बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी का प्रशंसक नहीं हूं, जो पैसे नहीं हैं, और जिसका मूल्य अत्यधिक अस्थिर है.

उन्होंने कहा, "अगर फेसबुक और अन्य कंपनियां बैंक बनना चाहती हैं, तो उन्हें नए बैंकिंग चार्टर की तलाश करनी चाहिए और अन्य बैंकों की तरह ही सभी बैंकिंग नियमों के अधीन रहना चाहिए. "ट्रंप का यह बयान तब आया है जब फेसबुक ने 2020 में अपनी वैश्विक क्रिप्टोकरेंसी लॉन्च की योजना बनाई है. फेसबुक और 28 पार्टनर, जिसमें मास्टरकार्ड इंक, पेपल होल्डिंग्स इंक और उबर टेक्नोलॉजीज इंक शामिल हैं, नए सिक्के को संचालित करने के लिए लिब्रा एसोसिएशन का गठन करेंगे.

वर्तमान में कोई भी बैंक समूह का हिस्सा नहीं है. संपत्ति के हिसाब से सबसे बड़े अमेरिकी बैंक जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी ने अपने डिजिटल सिक्कों को लॉन्च करने की योजना बनाई है. फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पावेल ने कानूनविदों को बताया कि ट्रंप की टिप्पणी उसके एक दिन बाद आयी है, जब लिब्रा नामक डिजिटल मुद्रा बनाने की फेसबुक की योजना तब तक आगे नहीं बढ़ सकती थी जब तक कि वह गोपनीयता, मनी लॉन्ड्रिंग, उपभोक्ता संरक्षण और वित्तीय स्थिरता पर चिंताओं पर अपनी राय स्पष्ट नहीं करता है.

अमेरिकी वित्तीय स्थिरता ओवरसाइट काउंसिल, नियामकों का एक पैनल जो वित्तीय प्रणाली के लिए जोखिमों की पहचान करता है, एक समीक्षा आयोजित करने की भी उम्मीद है. बिटकॉइन, सबसे प्रसिद्ध डिजिटल कॉइन 2008 में सरकारों और बैंकों द्वारा नियंत्रित मुद्राओं के विकल्प के रूप में बनाया गया था, लेकिन क्रिप्टो ट्रेडिंग और डिजिटल मुद्राएं काफी हद तक अप्रचलित हैं. इस कारण बाजार को मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण के आरोपों का भी सामना करना पड़ा है.

 

First published: 12 July 2019, 11:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी