Home » बिज़नेस » during demonetisation BJP, Congress, Shiv Sena, NCP leaders head co-op banks that swapped most cash
 

खुलासा: नोटबंदी के दौरान BJP से लेकर कांग्रेस और NCP नेताओं के बैंकों में जमा हुए करोड़ों

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2018, 10:02 IST

नोटबंदी के दौरान सहकारी बैंकों में पैसे जमा करने को लेकर आरटीआई से एक बड़ा खुलासा है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी, कांग्रेस एनसीपी और शिवसेना जैसे राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं द्वारा चलाए जा रहे 10 जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों (डीसीसीबी) में सबसे ज्यादा रकम जमा हुई.

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (नाबार्ड) के आरटीआई रिकॉर्ड्स के अनुसार देश में 370 डीसीसीबी ने 10 नवंबर से 31 दिसंबर 2016 तक 500 रुपये और 1000 रुपये के 22,270 करोड़ रुपये के पुराने नोट्स का आदान-प्रदान किया.

जिनमें से 18.82 प्रतिशत (4,191.3 9 करोड़ रुपये) शीर्ष दस जिला सहकारी बैंकों द्वारा किया गया था.रिकॉर्ड्स से पता चलता है कि इनमें से चार गुजरात चार महाराष्ट्र एक-एक हिमाचल प्रदेश कर्नाटक में हैं.

745.5 9 करोड़ रुपये के पुराने नोट्स के साथ सूची में अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक सबसे ऊपर है. जहां बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एक निदेशक और बीजेपी नेता अजयभाई एच पटेल अध्यक्ष हैं. सूची में दूसरा स्थान 693.1 9 करोड़ रुपये के साथ राजकोट जिला सहकारी बैंक का है जिसके अध्यक्ष जयेशभाई राडियाडिया हैं.

तीसरे स्थान पर पुणे का जिला केंद्रीय सहकारी बैंक है, जसिके अध्यक्ष पूर्व एनसीपी विधायक रमेश थोरात हैं. इस बैंक में 551.62 करोड़ रुपये जमा हुए हैं. इसके उपाध्यक्ष कांग्रेस नेता अर्चना गारे बैंक के उपाध्यक्ष हैं.जबकि इसके निदेशकों में एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार शामिल हैं.

इस सूची में सातवां स्थान कर्नाटक के दक्षिण कैनरा जिला केंद्रीय सहकारी बैंक का है. जिसमे 327.81 करोड़ रुपये जमा हुए. कांग्रेस के नेता एम एन राजेंद्र कुमार जो कि 2014 के लोकसभा चुनाव अभियान के प्रभारी जिला थे, वह इसके अध्यक्ष हैं.

आरटीआई रिकॉर्ड के अनुसार, नाबार्ड ने 31,15,964 ग्राहकों के प्रमाण पत्र सत्यापित किए हैं जिन्होंने 370 डीसीसीबी में पुराने नोट्स लौटाए हैं. रिकॉर्ड्स यह भी दिखाते हैं कि उनके संबंधित राज्यों में से अधिकांश डीसीसीबी राजनेताओं द्वारा नियंत्रित होते हैं, जो ज्यादातर सत्ताधारी पार्टियां हैं.

ये भी पढ़ें : पेट्रोल- डीजल की कीमतों में इजाफा जारी, मंगलवार को ये रही कीमतें

First published: 18 September 2018, 9:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी