Home » बिज़नेस » Economic Survey: GDP growth rate to be -7.7% in FY21; real GDP to be 11% in FY22
 

Economic Survey: वित्त वर्ष 21 में GDP ग्रोथ रेट -7.7 फीसदी रहने के अनुमान, FY22 में रियल GDP 11 फीसदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2021, 14:52 IST

Budget 2021 : आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 (Economic Survey 2020-21) में अनुमान लगाया गया है कि भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 2021-22 में 11 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है. सर्वे में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी -7.7 फीसदी रहने की उम्मीद है. यह केंद्रीय बैंक, अधिकांश अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों और निजी विशेषज्ञों द्वारा पूर्वानुमान के अनुरूप है. भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने दिसंबर में कहा था कि उसे 31 मार्च 2021 को समाप्त होने वाले वित्त र्ष में देश की जीडीपी 7.5 फीसदी की गिरावट आने उम्मीद है.

कोरोना वायरस महामारी ने मार्च 2020 से देश में आर्थिक गतिविधियों को बुरी तरह प्रभावित किया है. लाखों लोगों की नौकरियां चली गई हैं. आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 ने COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम के द्वारा आर्थिक सुधार की भी भविष्यवाणी की है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में आर्थिक सर्वे पेश किया. सर्वेक्षण में कृषि और औद्योगिक उत्पादन, रोजगार, धन की आपूर्ति और अन्य क्षेत्रों के रुझानों का विश्लेषण किया गया है. सर्वे में कहा गया है कि पिछले 12 महीनों में भारतीय अर्थव्यवस्था कैसे आगे बढ़ी है. अप्रैल-जून तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में भारी 23.9 फीसदी की दर से गिरावट आयी थी.


Economic Survey में कहा गया है कि भारत का करेंट अकाउंट सरप्लस (Current account surplus) मौजूदा वित्त वर्ष में GDP का 2 फीसदी रह सकती है. आर्थिक सर्वे में भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए लगाए अनुमान अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (International Monetary Fund- IMF) के अनुमान के सामान हैं. IMF ने कहा था कि वर्ष 2021-22 में भारत की रियल जीडीपी ग्रोथ रेट 11.5 फीसदी रहेगी और 2022-23 में इंडियन इकोनॉमी में 6.8 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिलेगी.

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो गया है. कई राजनीतिक पार्टियों ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का किया है. अभिभाषण का बहिष्कार करने पर केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा राष्ट्रपति का अभिभाषण गैर-राजनीतिक होता है इसमें शामिल होना चाहिए. ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि वो इसका बहिष्कार कर रहे हैं.

Budget Session 2021: अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति ने किया लाल किले पर तिरंगे के अपमान और किसानों की MSP का

First published: 29 January 2021, 14:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी