Home » बिज़नेस » Economy boosters: stay in hotels cheaper, finance minister cuts big GST rates
 

होटलों में रहना हुआ सस्ता, वित्त मंत्री ने GST दरों में की बड़ी कटौती की घोषणा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 September 2019, 9:15 IST

GST काउंसिल ने शुक्रवार को छोटे और मझोले उद्यमों के लिए जीएसटी की दरों में कटौती का ऐलान किया है. जिन पर जीएसटी की दर को कम किया गया है उनमें आउटडोर खानपान और होटल शामिल हैं. हालांकि जीएसटी परिषद ने ऑटोमोबाइल और बिस्कुट पर टैक्स कटौती के प्रस्तावों को खारिज कर दिया, क्योंकि सरकार असंगठित क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना चाहती है.

अभी यह अनुमान नहीं लगाया गया है कि इस कटौती से सरकार के राजस्व पर कितना प्रभाव पड़ेगा. जीएसटी काउंसिल की बैठक की अध्यक्षता करने वाली वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि होटल आवास के लिए आवेदन करने वाले स्लैब में बदलाव किया गया है.

1,000 तक के दैनिक टैरिफ वाले होटलों को जीएसटी से छूट दी जाएगी, जबकि 1,000 से 7,500 चार्ज करने वालों पर 12 प्रतिशत टैक्स लगेगा. अब 7,500 से ज्यादा पर 18 प्रतिशत टैक्स लगेगा. मौजूदा स्लैब के अनुसार 1,000-2,500 के टैरिफ पर 12 प्रतिशत टैक्स लगता है, जबकि 2,500–7,500 पर 18 प्रतिशत टैक्स लगता है और अधिक टैरिफ वाले होटलों पर 28 प्रतिशत टैक्स लगता है. जीएसटी बदलाव की दरें 1 अक्टूबर से लागू होंगी.

परिषद ने छोटे व्यवसायों को वित्तीय वर्ष 18 और FY19 के लिए वार्षिक रिटर्न दाखिल करने से छूट दी है. सीतारमण ने कहा कि अनुपालन को प्रोत्साहित करने के लिए नियमों को और सरल बनाया जाएगा. काउंसिल ने हीरे से संबंधित काम (5% से 1.5% तक) सहित सेवाओं टैक्स दरों को कम कर दिया. कैफीनयुक्त पेय पर जीएसटी 18 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत कर दिया गया.

टैक्स कटौती पर कॉर्पोरेट दिग्गज बोले- समय से पहले आ गई दीवाली

First published: 21 September 2019, 9:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी