Home » बिज़नेस » Economy is back on track, Finance Minister gave EPF gift to new employees
 

नए कर्मचारियों को वित्त मंत्री ने दिया EPF का तोहफा, कहा- पटरी पर लौट रही है अर्थव्यवस्था

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2020, 14:49 IST

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर आज भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन पैकेज से जुडी कुछ नई घोषणाओं का ऐलान किया. रोजगार सृजन को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana की घोषणा की जिसके तहत EPFO-पंजीकृत प्रतिष्ठान को कुछ शर्तों के अधीन सभी नए कर्मचारियों के लिए सब्सिडी मिलेगी. यह योजना 30 जून 2021 तक चालू होगी.

सरकार ने घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के इरादे से बुधवार को 10 और क्षेत्रों के लिये 2 लाख करोड़ रुपये मूल्य की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजनाओं को भी मंजूरी दे दी. पीटीआई के अनुसार मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना का लाभ रेफ्रजरेटर, वाशिंग मशीन जैसे उत्पाद, औषधि, विशेष प्रकार के इस्पात, वाहन, दूरसंचार, कपड़ा, खाद्य उत्पाद, सौर फोटोवोल्टिक और मोबाइल फोन बैटरी जैसे उद्योगों में निवेशकों को मिलेगा.


इन उपायों का उद्देश्य महामारी और लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले क्षेत्रों को राहत देना है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा ''अर्थव्यवस्था की हालत में बहुत सुधार हुआ है. कोरोना वायरस के सक्रिय मामले 10 लाख से घटकर 4.89 लाख हो गए हैं. कोरोना वायरस की मृत्य दर भी घटकर 1.47% हो गई है''.

उन्होंने कहा ''आरबीआई ने अपनी रिपोर्ट में तीसरी तिमाही में सकारात्मक ग्रोथ की भविष्यवाणी की है, पहले उम्मीद थी कि ये ग्रोथ चौथी तिमाही में होगी. वित्त मंत्री ने आज आत्मनिर्भर भारत 3.0 के तहत 12 नए राहत उपायों की घोषणाएं की. वित्त मंत्री ने कहा कि जो कंपनियां नए लोगों को रोजगार दे रही हैं यानी जो पहले से EPFO में कवर नहीं थें उन्हें इसका फायदा मिलेगा. इसका लाभ महीने 15,000 रुपए से कम सैलरी वालों या 1 मार्च 2020 से लेकर 31 सितंबर 2020 के बीच नौकरी गंवाने वाले लोगों को मिलेगा. योजना 1 अक्टूबर 2020 से लागू होगी.

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हाल में आए आंकड़े अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दे रहे हैं. उन्होंने कहा ''रिजर्व बैंक ने यह संकेत दिया है कि तीसरी तिमाही में ही इकोनॉमी पॉजिटिव जीडीपी ग्रोथ हासिल कर सकती है. मूडीज ने भी भारत की रेटिंग में सुधार किया है. हमारी नेगेटिव रेटिंग पहले से बेहतर हुई है.''

वित्त मंत्री ने कहा कि रेलवे में माल ढुलाई में 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा ''बैंक कर्ज वितरण में 5 फीसदी की बढ़त हुई है और अक्तूबर-दिसंबर तिमाही में अर्थव्यवस्था बेहतर होगी.  वित्त मंत्री ने कहा कि मूडीज ने भारत की रेटिंग में सुधार किया है. पहले हमारी रेटिंग जहां 9.6 निगेटिव थी अब इसे घटाकर 8.9 निगेटिव कर दिया गया है. इसी तरह 2022 के अनुमान को 8.1 फीसदी से बढ़ाकर 8.6 फीसदी कर दिया है. उन्होंने कहा ''यह संकेत है कि भारतीय अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है.

Coronavirus Vaccine : 'तैयार हैं कोरोना वायरस की 4 करोड़ खुराकें, जनवरी में हो सकती हैं लॉन्च'

First published: 12 November 2020, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी