Home » बिज़नेस » ED probes Air India deals during UPA rule
 

यूपीए सरकार के दौरान हुए एयर इंडिया सौदे की ईडी करेगी जांच

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 October 2018, 10:38 IST

सीबीआई के एयर इंडिया और इंडियन एयरलाइंस के विलय की जांच शुरू करने के एक साल बाद 111 विमानों के अधिग्रहण को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को इस मामले में कथित मनी लॉंडरिंग के चार मामले दर्ज कराए हैं. ईडी के सूत्रों ने कहा कि इस मामले में पिछले दर्ज की गई चार एफआईआर के आधार केस दर्ज किये गए हैं.

गौरतलब है कि यूपीए -1 शासन के दौरान जब यह विलय हुआ जब एनसीपी नेता प्रफुल पटेल नागरिक उड्डयन मंत्री थे. कुछ समय पहले पटेल ने इस मामले में मीडिया के सामने किसी की गलती से इंकार किया है और कहा निर्णय सामूहिक रूप से लिया गया था. पिछले साल मई में सीबीआई ने इस मामले में तीन प्राथमिकी दर्ज की थी और एयर इंडिया और इंडियन एयरलाइंस के विलय के संबंध में प्रारंभिक जांच शुरू की थी.

 

बाद में पीई को एफआईआर में परिवर्तित कर दिया गया. सीबीआई के मुताबिक विलय के संबंध में निर्णय विमानों की खरीद और निजी एयरलाइनों को लाभदायक मार्ग छोड़ने के फैसले से हजारों करोड़ रुपये का खजाना निकला.

सीबीआई के प्रवक्ता आर के गौर ने तब कहा था कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय और एयर इंडिया के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र और भ्रष्टाचार के अपराधों के लिए प्राथमिकी दर्ज की गई है. जनवरी 2012 में संसद में पेश की गई एक रिपोर्ट में नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने इन अनियमितताओं को सामने लाया था.

First published: 20 October 2018, 10:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी