Home » बिज़नेस » EPFO India now workers generate UAN from EPFO Portal
 

अगर आपका भी है पीएफ अकाउंट तो ये है जरूरी खबर, EPFO ने शुरु की ये नई सर्विस

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2019, 16:09 IST

ईपीएफओ यानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने औपचारिक क्षेत्र के कर्मचारियों को अब यूनिवर्सल अकाउंट नंबर यानी UAN हासिल करने के लिए ऑनलाइन सुविधा शुरु की है. इस सुविधा के शुरु होने से कर्मचारी खुद ही ऑनलाइन तरीके से अपना UAN हासिल कर सकेंगे और इसके लिए उन्हें अपने एम्पलॉयर यानी कंपनी पर निर्भर होने की जरूरत नहीं होगी.

बता दें कि वर्तमान समय में कर्मचारियों को UAN के लिये एम्पलॉयर के जरिये आवेदन करना होता है. लेकिन अब EPFO की वेबसाइट से ही इसे खुद बनाया जा सकता है. इससे उन्हें नौकरी बदलने पर पीएफ ट्रांसफर का क्लेम करने की जरूरत नहीं होगी. बता दें कि किसी कर्मचारी का यूएएन नंबर पूरी जिंदगी एक ही रहता है.

अब कर्मचारी अपना यूएएन नंबर सीधे ईपीएफओ की वेबसाइट से ले सकते हैं. जिससे वह पीएफ, पेंशन और लाइफ इंश्योरंस के फायदे के लिए रजिस्टर होता. इसके साथ ही ईपीएफओ ने 65 लाख पेंशनभोगियों के लिए भी एक खास सुविधा शुरु की है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की इस सेवा के शुरु होने से 65 लाख पेंशन लेने वालों को फायदा होगा.

बता दें कि ईपीएफओ ने कर्मचारियों के पेंशन पेमेंट ऑर्डर जैसे पेंशन से जुड़े दस्तावेज डिजिलॉकर में डाउनलोड करने की भी सुविधा शुरू कर दी है. इसके लिए ईपीएफओ ने नेशनल ई गवर्नेंस डिवीजन के साथ समझौता किया है. यह ईपीएफओ की तरफ से पेपरलैस सिस्टम की ओर एक कदम है.

बता दें कि ईपीएफओ रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने की भी तैयारी कर रहा है. हाल ही में आई कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि EPFO पेंशन की उम्र सीमा को 58 साल से बढ़ाकर 60 साल कर सकता हैं. इसके लिए EPF Act 1952 में बदलाव की तैयारी की जा रही है. इसे बदलने के पीछे बड़ा कारण दुनियाभर में तय की गई उम्र को बताया जा रहा है.

बता दें कि दुनिया के ज्यादातर पेंशन फंड में पेंशन की उम्र 65 साल तय की गई है, इसीलिए इसे बदलने की तैयारी है. वहीं अगर ईपीएफओ यह कदम उठाता है तो नौकरीपेशा लोगों की रिटायरमेंट उम्र भी 2 साल बढ़ सकती है.

अक्टूबर में भारत की बेरोजगारी की दर 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची : CMIE

अमेरिकी सरकार के निशाने पर चीनी एप TikTok, बताया राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

First published: 2 November 2019, 16:05 IST
 
अगली कहानी