Home » बिज़नेस » EPFO made provident fund withdrawal rule easy, now employee don't need to go to their previous employer
 

खुशखबरीः पीएफ निकालना आसान, बिना नियोक्ता के चक्कर काटे कर्मचारी निकाल सकेंगे अपनी रकम

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2016, 17:23 IST

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) से जुड़े कर्मचारियों की लिए एक खुशखबरी है. कई बार जरूरत पड़ने के बावजूद अपनी पीएफ रकम निकालने के लिए कर्मचारियों को काफी धक्के खाने पड़ते थे और कंपनी, एचआर, पीएफ ऑफिस समेत तमाम स्थानों पर संपर्क करना पड़ता था. तमाम कंपनियां अपने कर्मचारियों का पीएफ पैसा देने के लिए दस्तावेज देने, हस्ताक्षर करने, मोहर लगाने समेत अन्य प्रक्रिया में भी परेशानी खड़ी करती थीं. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

ईपीएफओ द्वारा जारी की गई ताजा जानकारी के मुताबिक अब कर्मचारियों को नए नियमों के अंतर्गत अपने पूर्व नियोक्ता (कंपनी) से किसी तरह के दस्तावेज प्रमाणित करवाकर जमा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. कंपनियों की पीएफ रकम के लिए कर्मचारियों को दौड़ाने की पुरानी परंपरा समाप्त हो जाएगी.

पीएफ खाताधारकों की परेशानी खत्म, निकाल सकते हैं पूरा पैसा

ईपीएफओ ने ऐसे कर्मचारियों के लिए एक नया आवेदन फॉर्म जारी किया है जिनके पास यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) है. यूएएन नंबर वाले कर्मचारियों को पीएफ की रकम की निकासी का आवेदन करने के लिए इस फॉर्म पर पूर्व कंपनी के हस्ताक्षर की कोई जरूरत नहीं होगी. अब कर्मचारी यूएएन नंबर पर आधारित फॉर्म नंबर 19 भरकर ईपीएफओ में जमा करके पैसे निकाल सकेंगे.

ध्यान देने वाली बात यह है कि पीएफ निकासी के लिए यह फॉर्म संख्या 19 उन कर्मचारियों के लिए ही जारी किया गया है जिनके पास यूएएन नंबर होने के साथ ही उनकी केवाईसी (नो योर कस्टमर यानी पहचान-निवास दस्तावेज सत्यापन) डिटेल्स कंपलीट है. 

रिटायरमेंट के बाद आपका पीएफ दिलवा सकता है ज्यादा पेंशन

जिन कर्मचारियों की यह जानकारी पूरी होगी और उनका बैंक खाता आधार संख्या से जुड़ा है, उनकी पीएफ की रकम आसानी से सीधे खाते में पहुंच जाएगी.

हालांकि ईपीएफओ ने फिलहाल इस फॉर्म को ऑफलाइन निकासी के लिए जारी किया है. लेकिन बताया जा रहा है कि जल्द ही इसे ऑनलाइन कर दिया जाएगा. 

नौकरी छोड़ने पर केवल आधा पीएफ ही मिलेगा

अगर आपको भी पीएफ की रकम निकालनी है या आने वाले वक्त में निकासी की सोच रहे हैं तो फॉर्म नंबर 19 जरूर ध्यान रखें. साथ ही समय रहते अपना यूएएन नंबर एक्टिवेट कराने के साथ ही केवाईसी डिटेल्स अपडेट कर लें.

First published: 6 October 2016, 17:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी