Home » बिज़नेस » Ericsson to again move court against Anil Ambani as RCom fails to pay up
 

मुश्किल में अनिल अंबानी, कर्जे को लेकर अदालत पहुंची स्वीडिश कंपनी एरिक्सन

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 December 2018, 11:14 IST

रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमैन अनिल अंबानी एक बार फिर मुश्किल में घिरते दिखाई दे रहे है. सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद समय पर बकाया चुकाने में नाकाम रहने के बाद स्वीडिश कंपनी एरिक्सन ने अदालत में रिलायंस के खिलाफ दूसरी बार अवमानना याचिका दर्ज किया है. एक रिपोर्ट के अनुसार एरिक्सन के वकील अनिल खेर ने कहा, हम अनिल अंबानी के खिलाफ एक नई अवमानना याचिका दायर कर रहे हैं क्योंकि वह 23 अक्टूबर के आदेश के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करने में नाकाम रहे.

रिपोर्ट के अनुसार अनिल अंबानी ने उच्चतम न्यायालय में व्यक्तिगत गारंटी दी थी, जिसमें एरिक्सन को समय पर भुगतान करने की बात कही गई थी और इसकी पहली समय सीमा 30 सितंबर थी. उस समय सर्वोच्च न्यायालय ने 15 दिसंबर तक आरकॉम को भुगतान के लिए समय दिया था.

इससे पहले आरकॉम ने कहा था कि वह अपने स्पेक्ट्रम रिलायंस जियो को बेचने जा रहा है, जिससे अन्य लेनदारों के अलावा एरिक्सन को 550 करोड़ रुपये और ब्याज का भुगतान किया जायेगा. हालांकि दूरसंचार विभाग (डीओटी) ने जियो के साथ अपने स्पेक्ट्रम ट्रेडिंग समझौते को खारिज कर दिया और कहा कि यह स्पेक्ट्रम ट्रेडिंग दिशानिर्देशों के अनुरूप नहीं है.

इससे पहले एरिक्सन ने पिछले साल सितंबर में एरिक्सन ने 11.5 अरब रुपये की वसूली की खातिर एनसीएलटीके मुंबई पीठ में याचिका दाखिल कर आरकॉम के परिसमापन की मांग की थी. दिसंबर 2017 में आरकॉम पर लेनदारों का करीब 460 अरब रुपये बकाया था और इसने अपने लेनदारों के साथ कर्ज पुनर्गठन कार्यक्रम का प्रस्ताव किया था.

ये भी पढ़ें पढ़ें : Flipkart के फाउंडर बिन्नी बंसल Walmart से मांगेंगे 100 मिलियन डॉलर की रकम

First published: 20 December 2018, 11:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी