Home » बिज़नेस » every gas cylinder is insured, know lpg consumers insurance policy and benefits
 

LPG सिलेंडर के साथ मिलता है मुफ्त बीमा, जानें कैसे मिलेगा 50 लाख तक लाभ

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2019, 18:11 IST

गैस सिलेंडर हमारे दैनिक उपयोग की सबसे अहम वस्तुओं में एक है. लेकिन अक्सर हम गैस सिलेंडर से आग लगने की खबरें सुनते हैं. इन हादसे और से कई बार बड़ा नुकसान भी हो जाता है यहां तक कि लोगों को जान तक गवांनी पड़ती है. जब ऐसी दुर्घटना में घर के कमाऊ सदस्य की मौत हो जाती है या घायल हो जातें हैं तब घर में पैसों की तंगी आ जाती है. हालांकि एलपीजी कंपनियां ऐसे हादसों के लिए 50 लाख तक का इंश्योरेंस कवर देती है लेकिन जानकारी के आभाव में लोग इसका लाभ नहीं ले पाते हैं.

 

अगर ऐसा हादसा होता है तो 50 लाख रुपये तक का क्लेम कर सकते हैं. यह बीमा कवर उन्हीं लोगों को मिलता है जो एलीपीजी सिलेंडर अधिकृत रूप से (खुद के नाम से कनेक्शन) से लेते हैं. अगर कोई गैस सिलेंडर से हुई दुर्घटना में घायल हो जाता है तो उसके इलाज के लिए अधिकतम 15 लाख रुपये मिलते हैं. यदि सिलेंडर ब्लास्ट में किसी की संपत्ति को नुकसान पहुंचता है तो इसके लिए प्रॉपर्टी के हिसाब से 1 लाख रुपये तक का क्लेम किया जा सकता है.

यह बीमा एलपीजी कंपनियां ग्राहकों को मुफ्त में प्रदान करती है. यह एक थर्ड पार्टी बीमा है, वर्तमान में पेट्रोलियम कंपनियों के लिए यह बीमा यूनाइटेड इंश्योंरेंस कंपनी जारी करती है, जो गैस सिलेंडर ग्राहक के घर आते ही बीमा कवर शुरू हो जाता है.

ऐसे करें क्लेम

गैस सिलेंडर से हुए हादसे के बाद सबसे पहले नजदीकी पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज करानी होती है. इसके बाद पुलिस की FIR कॉपी के साथ गैस डिस्ट्रीब्यूटर एजेंसी को हादसे की लिखित में सूचना देनी चाहिए. अब बाद गैस डिस्ट्रीब्यूटर एजेंसी इसकी ऑफिशियल सूचना गैस कंपनी को देती है. इसके बाद प्रॉपर्टी डैमेज का आंकलन करने के लिए पेट्रोलियम कंपनी से एक टीम भेजी जाती है. इसी टीम की रिपोर्ट के आधार पर इंश्योंरेस क्लेम के पैसे पीड़ित तक पहुंचते हैं.

गैस सिलेंडर की सुरक्षा करें सुनिश्चित

जब घर पर गैस सिलेंडर आता है तो सबसे पहले चेक करना चाहिए कि वह सील है या नहीं. अगर सीलबंद नहीं है तो उसे नहीं लेना चाहिए. इसके अलावा सिलेंडर और चूल्हा को जोड़ने वाले पाइप और रेग्युलेटर की भी अच्छे से जाँच करना चाहिए. यह भी जरूर चेक करना चाहिए कि एलपीजी सिलेंडर पर ISI मार्क है या नहीं.

First published: 24 May 2019, 18:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी