Home » बिज़नेस » Excise duty on petrol and diesel may increase by Rs. 18 and Rs.12
 

लगातार 8वें दिन नहीं घटे पेट्रोल-डीजल के दाम, 18 और 12 रुपये बढ़ सकती है एक्साइज ड्यूटी

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2020, 11:06 IST

खुदरा विक्रेताओं ने लगातार 8वें दिन से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई कटौती नहीं की है. हालांकि इस साल की शुरुआत से कच्चे तेल की दरों में 60 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है. भारत में अभी तक इंटरनेशनल बाजार में हुई इस कटौती का लाभ लोगों को नहीं दिया गया है.

सोमवार को संसद में वित्त विधेयक पारित होने के बाद सरकार के पास अब पेट्रोल और डीजल पर एडिशनल एक्साइज ड्यूटी 18 रुपये और 12 रुपये तक बढ़ाने की शक्ति आ गई है. अब तक यह सीमा 10 रुपये और 4 रुपये पर पर तय की गई थी. हालांकि सरकार ने अभी तक बढ़ोतरी की घोषणा करने वाली अधिसूचना जारी नहीं की है.

कच्चे तेल की दरों में गिरावट का फायदा उठाने के लिए, सरकार ने हाल ही में पेट्रोल और डीजल प्रत्येक पर 3 रुपये उत्पाद शुल्क बढ़ाया था. अब उम्मीद की जा रही है कि उत्पाद शुल्क में और भी अधिक बढ़ोतरी की जा सकती है. तेल की कीमतों में आयी गिरावट का लाभ जनता को न देने पर विपक्ष लगातार सवाल उठा रहा है.

आज कितने हैं पेट्रोल के दाम 

दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 69.59 प्रति लीटर और डीजल की कीमत 62.29 प्रति लीटर है. मुंबई में पेट्रोल 75.30 प्रति लीटर और डीजल 65.21 प्रति लीटर की दर से बिक रहा है. चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 72.28 प्रति लीटर होगी जबकि डीजल की कीमत अब 65.71 प्रति लीटर है.

बेंगलुरु में अब पेट्रोल 71.97 और डीजल 1 64.41 पर बिक रहा है. वैश्विक मांग पर कोरोनोवायरस के प्रभाव और सऊदी अरब और रूस के बीच युद्ध के कारण कच्चे तेल की कीमतें जनवरी आधी तक गिर चुकी है.

कोरोना वायरस: मारुति सुजुकी, महिंद्रा और ह्युंडई सहित कई कंपनियों ने बंद किया उत्पादन

First published: 24 March 2020, 11:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी