Home » बिज़नेस » Facebook Cambridge Analytica Scam: Anand Mahindra invites Indian Startups for Desi Version of Facebook
 

Facebook के देसी वर्जन पर दीजिए विचार, यह उद्योगपति है निवेश को तैयार

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 27 March 2018, 20:06 IST

फेसबुक-कैंब्रिज एनालिटिका विवाद के बाद महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा है कि Facebook के भारतीय विकल्प को ढूंढ़ने का यह बिल्कुल मुफीद वक्त है. आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया, "यह सोचने की शुरुआत है कि क्या यह हमारी स्वयं की सोशल नेटवर्किंग कंपनी पर विचार करने का समय है, जो कि बहुत व्यापक रूप से स्वामित्व वाली और पेशेवर प्रबंधन व स्वेच्छा से चलने वाली हो."

इतना ही नहीं महिंद्रा ने यहां तक घोषणा की कि वे किसी भी "संबंधित भारतीय स्टार्टअप" को "शुरुआती निवेश की रकम" मुहैया कराने के लिए तैयार हैं. घरेलू सोशल नेटवर्किंग स्टार्टअप का विचार सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद के समर्थन के बाद आया है.

हालांकि यह जानकारी नहीं है कि वे किस तरह के 'सोशल नेटवर्क' में निवेश के बारे में कह रहे हैं लेकिन उन्होंने 'ब्लॉकचेन-इनेबल्ड' प्लेटफॉर्म को लेकर कुछ दिलचस्पी जरूर दिखाई है.

अगर आनंद महिंद्रा के इस विचार को भारतीय स्टार्टअप गंभीरता से लेते हैं, तो ऐसे वक्त में जब Facebook को वैश्विक रूप से बदनामी का सामना करना पड़ रहा है, यह एक अच्छी शुरुआत हो सकती है. हालांकि, जिस तादाद में Facebook ने भारतीय ही नहीं वैश्विक यूजर्स को एकजुट किया है, उसे फिलहाल किसी स्टार्टअप द्वारा टक्कर देना आसान काम नहीं लगता.

लेकिन ऐसे वक्त में जब Facebook की खूबियां और खामियां सामने आ चुकी हैं, यह एक बड़ा काम भी नहीं है. अगर सोशल नेटवर्किंग के क्षेत्र में एक वक्त काबिज Orkut को टक्कर देकर Facebook दुनियाभर में छा सकता है, तो आने वाले वक्त में Facebook को कोई टक्कर दे दे बड़ी बात नहीं.

देखने वाली बात यह होगी कि क्या आनंद महिंद्रा द्वारा की गई पेशकश को भारतीय स्टार्टअप गंभीरता से लेते हैं या नहीं, क्योंकि उनके पास खुद को साबित करने का और अच्छा निवेश पाने का सुनहरा मौका है.

वहीं, आनंद महिंद्रा के इस ट्वीट के बाद उनके ट्विटर वॉल पर जमकर रिप्लाई और प्रस्ताव आने लगे. इस बीच बिजनेस लीडर, डिजिटल टेक्नोलॉजी और स्टार्ट अप सलाहाकार जसप्रीत बिंद्रा ने उन्हें रिप्लाई कर ब्लॉकचेन इनेबल्ड सोशल नेटवर्किंग का आइडिया सुझाया. इसके जवाब में महिंद्रा ने उनसे कहा कि वे उनके साथ काम करें और सटीक प्रस्ताव को छांटने और सही उम्मीदवार को चुनने में उनकी मदद करें.

बिंद्रा ने उनका यह सुझाव मान भी लिया और उनके साथ काम करने को तैयार हो गए. आनंद महिंद्रा ने इस बीच ट्वीट कर बताया कि उन्हें देसी सोशल नेटवर्क प्लेटफॉर्म लाने को लेकर ढेरों प्रतिक्रियाएं, सुझाव और प्रस्ताव मिल चुके हैं और वे अब इनमें से सबसे बेहतर को छांटने का काम करवाएंगे.

First published: 27 March 2018, 20:06 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

अगली कहानी