Home » बिज़नेस » facebook data leak: this app leaked the personal data in cambridge analytica case
 

इस ऐप ने किया फेसबुक डेटा लीक, 5.62 लाख यूजर्स की चुराई निजी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2018, 13:13 IST

फेसबुक डेटा लीक मामला सुलझता नहीं दिख रहा है. यहां तक की डेटा मामले में बढ़ते विवाद को देख कर फेसबुक ने भारत के 5.62 लाख यूजर्स के डेटा लीक होने की बात स्वीकार की है. सरकार की ओर से जारी किए गए नोटिस के जवाब में फेसबुक ने यह बात मानी है.

फेसबुक ने डेटा लीक के मामले में अमेरिकी फेसबुक यूजर्स को सबसे बड़ा झटका लगा है. फेसबुक के मुताबिक अमेरिका के 7.6 करोड़ लोगों का डेटा चोरी हुआ है. भारत इस मामले में 7वें स्थान पर है. जानें कैसे हुआ डेटा लीक

thisisyourdigitallife.Globally इस ऐप ने लीक किया डेटा

भारत में 335 लोगों ने thisisyourdigitallife.Globally नाम का ऐप डाउनलोड किया था, जिसके चलते 5.62 लाख यूजर्स का डेटा चोरी हो गया. अब यह ऐप इनऐक्टिव कर दिया गया है. आशंका जताई जा रही है कि इसके जरिए ही एनालिटिका ने भारतीयों का डेटा हासिल किया था.

यह ऐप फेसबुक पर 2013 से 2015 के दौरान ऐक्टिव था. इसमें यूजर्स से उनकी पर्सनेलिटी से जुड़े सवाल पूछे जाते थे. यूजर्स की ओर से फेसबुक की जानकारी ऑथराइज करने पर वह उनके दोस्तों तक की जानकारी हासिल कर लेता था. ग्लोबल साइंस रिसर्च के फाउंडर अलेक्सांद्र कोगन ने इस ऐप को डिवेलप किया था.

ग्लोबल साइंस रिसर्च ने ही ये डेटा अपनी क्लाइंट कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका को मुहैया कराए. इसके बाद 2016 में अमेरिका में कैम्ब्रिज एनालिटिका ने यूजर्स की पसंद के आधार पर उन्हें चुनाव में प्रभावित करने का काम किया.

ये भी पढ़ें- VIDEO: संगीत की धुन पर थिरके 1300 से अधिक रोबोट, बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

एनालिटिका का दावा- ख़त्म कर दिया गया है डेटा
फेसबुक का अनुमान है कि दुनिया भर में 8.7 करोड़ फेसबूक यूजर्स लीक कांड से प्रभावित हुए हैं. हालांकि कैम्ब्रिज एनालिटिका का दावा है कि उसने 3 करोड़ लोगों का डेटा हासिल किया था, जिसे अब खत्म कर दिया है.

फेसबुक बताएगा किसका डेटा गलत ढंग से हासिल किया
फेसबुक का कहना है कि वह उन यूजर्स को सोमवार से उनके प्रोफाइल पर नोटिफिकेशन देगा, जिनके डेटा को गलत ढंग से हासिल किया गया है. फेसबुक के स्वीकार करने से उस बात को बल मिलता है, जिसमें यह कहा गया था कि कैम्ब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक यूजर्स का डेटा हासिल कर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों को प्रभावित किया था.

ये भी पढ़ें- Mi Fan Festival: इस डेट तक Redmi के स्मार्टफोन्स पर मिलेंगे ये बंपर ऑफर, ये है प्रोसेस

भारत में फेसबुक के 21.7 करोड़ मासिक ऐक्टिव यूजर्स हैं, जबकि दुनिया भर में यह आंकड़ा 2 अरब का है. फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग 11 अप्रैल को अमेरिकी संसद की कॉमर्स कमिटी के समक्ष अपना पक्ष रखेंगे.

First published: 6 April 2018, 13:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी