Home » बिज़नेस » Finance Minister Arun Jaitley could propose hike in service tax from 15 to 18 percent, will result as expensive telephony, air travel & restaurant bill
 

आम बजट 2017: फोन, सफर और रेस्त्रां का बिल बढ़ा सकती है सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2017, 18:04 IST

सरकार आने वाले वक्त में देशवासियों की जेबें ढीली कर सकती है. आगामी 1 फरवरी को पेश होने वाले नए वित्तीय वर्ष के आम बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली सर्विस टैक्स की दरों में बदलाव कर सकते हैं. संभावना जताई जा रही है कि नए आम बजट में सर्विस टैक्स की मौजूदा 15 फीसदी दर को बढ़ाकर 16 से 18 फीसदी के बीच किया जा सकता है.

जाहिर है अगर आम बजट में सर्विस टैक्स में ईजाफा करने की घोषणा की जाती है तो  लोगों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सेवाओं मसलन टेलीफोन, मोबाइल के साथ ही हवाई सफर और रेस्त्रां में खाना-पीना महंगा हो जाएगा. इतना ही नहीं सर्विस टैक्स के चलते ब्याज दरों, वाहनों की सर्विस आदि में भी बढ़ोतरी होगी और लोगों की जेबें ढीली होंगी.

कहा जा रहा है कि सरकार का लक्ष्य है कि आगामी 1 जुलाई से जीएसटी को लागू कर दिया जाए. जीएसटी लागू होने पर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा लगाए जाने वाले तमाम अप्रत्यक्ष कर इसमें ही शामिल हो जाएंगे.

गौरतलब है कि आम बजट इस बार पहली फरवरी को पेश किया जाएगा. इसके बाद बजट और वित्त विधेयक पारित कराने की पूरी प्रक्रिया नए वित्त वर्ष के चालू होने से पहले ही संपन्न करा ली जाएगा, जिससे 1 अप्रैल से ही विभागों द्वारा उनके लिए प्रस्तावित बजट धनराशि का प्रयोग शुरू किया जा सके.

जीएसटी में टैक्स की दरों को 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत के स्तर पर रखने का फैसला किया गया है. टैक्स विश्लेषकों के मुताबिक सर्विस टैक्स की दर को इस बार के बजट में उपरोक्त में से किसी एक स्तर के नजदीक ले जाना तर्कसंगत होगा.

फिलहाल सर्विस टैक्स की दर 15 फीसदी है, ऐसे में इसे 16 प्रतिशत के स्तर के करीब ले जाया जाना स्वाभाविक माना जाएगा. जेटली ने अपने पिछले बजट में सर्विस टैक्स की दर को 0.5 पर्सेंट बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया था.

First published: 29 January 2017, 18:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी