Home » बिज़नेस » Finance Ministry says, September bank holiday reports fake, Banks to remain open in first week
 

वित्त मंत्रालय ने सितबंर के पहले हफ्ते में बैंक बंद होने पर दिया बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2018, 12:09 IST
(PIB Twitter )

सोशल मीडिया पर अगले सप्ताह 5 से 6 दिन देश के बैंक और ATM बंद होने अफवाह तेजी से फैल रही है. इसको लेकर वित्त मंत्रालय को सफाई देनी पड़ी है. वित्त मंत्रालय ने इस अफवाह को खारिज करते हुए कहा है कि बैंक खुले रहेंगे. आम जनता को घबराने की जरूरत नहीं है. बयान में कहा गया है कि बैंक 6 दिन बंद नहीं रहेंगे.

बता दें कि व्हाट्सएप पर अगले सप्ताह बैंकों के 5 से 6 दिन बंद रहने की अफवाह फैल रही है. इसमें कहा जा रहा है कि अगले सप्ताह जन्माष्टमी  और  रिजर्व बैंक के कर्मचारियों की 2 दिन की हड़ताल है. इसके चलते पूरे देश में 1 से 5 सितंबर तक बैंक और ATM बंद रहेंगे. इसको लेकर वित्त मंत्रालय को सफाई देनी पड़ी है. 

मीडिया खबरों के अनुसार, वित्त मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि एक सितंबर यानी शनिवार को बैंक खुले रहेंगे. सिर्फ रविवार को बैंक बंद रहेंगे. 3 सितंबर को भी कुछ राज्यों को छोड़कर बैंक खुले रहेंगे. कुछ राज्यों में तीन सितंबर यानी सोमवार को जन्माष्टमी की छुट्टी हो सकती है. ऐसे में वहां पर बैंक बंद हो सकते हैं.

इसके बाद मंगलवार 4 सितंबर, बुधवार 5 सितंबर, गुरूवार 6 सितंबर, शुक्रवार 7 सितंबर को बैंक खुले रहेंगे. 8 सितंबर को महीने का दूसरा शनिवार है. इसलिए बैंक बंद रहेंगे. इसके साथ ही कहा गया है कि ATM और नेटबैंकिंग की सुविधा चालू रहेगी. इसलिए किसी को घबराने की जरूरत नहीं है.

वित्त मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि हड़ताल से भी बैंकों के कामकाज पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. इन दिनों में भी बैंकों में कामकाज सुचारू रूप से चलता रहेगा. रिजर्व बैंक के कर्मचारियों का प्राइवेट और सरकारी बैंकों के कामकाज से कोई लेना देना नहीं है. 

सोशल मीडिया पर इस तरह के मैसेज पर ना दें ध्यान

लोगों को कहा गया है कि अगर कोई व्हाट्सएप पर आपको इस तरह की सूचना भेज रहा है तो उस पर बिल्कुल ध्यान दें. इस तरह के मैसेज को बिना जांचे किसी को फॉरवर्ड ना करें. आजकल व्हाट्सएप पर ऐसे फर्जी मैसेज की बाढ़ है. सरकार सोशल मीडिया पर फेक मैसेज को रोकने के लिए सख्त है. व्हाट्सएप को भी इस तरह के मैसेज को रोकने के लिए कहा गया है. सोशल मीडिया पर फर्जी अफवाह को रोकने के लिए कैंपेन चलाए जा रहे हैं. लोगों को कैंपेन और विज्ञापन के जरिए जागरूक करने की कोशिश की जा रही है.

ये भी पढ़ें- I-T रिटर्न में हुई इस बढ़ोतरी ने सरकार को दिया नोटबंदी पर बचाव का हथियार

First published: 1 September 2018, 12:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी