Home » बिज़नेस » first time PM Modi answer on allegations of friendship with corporate
 

कॉर्पोरेट्स से दोस्ती के आरोपों पर पहली बार पीएम मोदी ने दिया जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2018, 12:42 IST

कॉर्पोरेट्स के साथ अपने मित्रवत संबंधों को लेकर पहली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाब दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि ''कुछ लोग हैं जो कभी उद्योगपतियों और व्यापारिक मैग्नेट के साथ सार्वजनिक रूप से खड़े होने से डरे नहीं क्योंकि उनके इरादे महान थे."

मोदी ने कहा कि उद्योगपति भी राष्ट्र निर्माण में योगदान देते हैं, सभी पर चोर का लेबल लगाने का अधिकार किसी को नहीं है, लेकिन जो लोग गलत करते हैं उन्हें देश छोड़ना होगा या जेल में रहना होगा.

पीएम मोदी ने कहा "हम उन लोगों में नहीं हैं जो उद्योगपतियों के बगल में खड़े होने से डरेंगे. आप कुछ लोगों को जानते होंगे (ऐसे हैं) जिनकी आपको उद्योगपति / व्यवसायी के साथ एक तस्वीर नहीं मिलेगी लेकिन एक भी व्यवसायी नहीं है जो इन लोगों के स्थानों पर नहीं गया होता है.''

पीएम मोदी ने कहा, "यदि आपके इरादे महान हैं तो आपको इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि आप किसके साथ खड़े हैं," उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी को बिड़ला परिवार में रहने के बारे में कभी भी किसी ने कोई अधिकार नहीं था. पीएम मोदी ने कहा कि महात्मा गांधी को कभी बिड़ला के साथ खड़े होने में कोई दिक्कत नहीं हुई, क्योंकि उनके इरादे गलत नहीं थे.     

गौरतलब है कि विपक्ष ने इस साल जनवरी में दावोस आर्थिक मंच पर पीएम मोदी के साथ नीरव मोदी की तस्वीर सामने आने पर खूब हंगामा खड़ा किया था. नीरव मोदी पर हजारों करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले का आरोप है.

साथ ही यह भी सवाल उठाया गया कि प्रधानमंत्री ने भगोड़े मेहुल चोकसी को सार्वजनिक रूप से 'मेहुल भाई' के रूप में संबोधित किया था. इन कारोबारियों को लेकर मोदी सरकार की निष्क्रियता को लेकर भी विपक्ष ने खूब आलोचना की.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कई बार पीएम मोदी पर यह आरोप लगाकर हमला कि वह अपने कुछ कॉर्पोरेट मित्रों के लिए काम कर रहे हैं और अपनी नीतियां बना रहे हैं.

ये भी पढ़ें : सुभाष चंद्रा रखने जा रहे हैं बैटरी चार्जिंग के कारोबार में कदम, यूपी में करेंगे 1,750 करोड़ का निवेश

First published: 30 July 2018, 12:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी