Home » बिज़नेस » Flashback 2018: Mukesh Ambani’s Reliance Jio boosts internet connectivity, India crosses 50-crore mark in 2018
 

Flashback 2018 : मोदी सरकार में अंबानी का चमत्कार, अब भारत में हैं इतने करोड़ इंटरनेट यूजर्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2018, 17:04 IST

मोदी सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान को बढ़ावा देने के लिए अरबपति मुकेश अंबानी ने आज से तीन साल पहले रिलायंस जियो शुरू किया था. जियो ने 2018 में भारत में इंटरनेट कनेक्शन की संख्या में 65 प्रतिशत की वृद्धि कर इसे 50 करोड़ के पार कर दिया है. ट्राई के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर 2018 के अंत में भारत में 56 करोड़ नैरोबैंड और ब्रॉडबैंड कनेक्शन थे. दिलचस्प बात यह है कि 56 करोड़ कुल इंटरनेट कनेक्शनों में 54 करोड़ मोबाइल फोन पर हैं.

जिसका अर्थ है कि अधिकांश ग्राहक फोन पर इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं. कुल 56 करोड़ कनेक्शनों में से 64 फीसदी या 36 करोड़, शहरी इलाकों में और 36 फीसदी यानी 19.4 करोड़ ग्रामीण इलाकों में हैं. 31 अगस्त 2018 तक 445.18 मिलियन ग्राहक थे जो मोबाइल फोन और डोंगल पर इंटरनेट का उपयोग कर रहे थे. 30 सितंबर 2018 को यह संख्या बढ़कर 462.89 हो गई.

 

सितंबर 2018 के अंत में शीर्ष पांच सेवा प्रदात कुल ब्रॉडबैंड ग्राहकों की 97.86 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी पर कब्ज़ा किये हुए हैं. ये सेवा प्रदाता रिलायंस जियो इन्फोकॉम (252.25 मिलियन), भारती एयरटेल (99.29 मिलियन), वोडाफोन (51.82 मिलियन), आइडिया सेल्युलर ( 47.90 मिलियन) और BSNL (20.12 मिलियन) है.

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि छह राज्यों कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात और महाराष्ट्र में भारत के सभी इंटरनेट कनेक्शनों का 20 करोड़ या 36 प्रतिशत हिस्सा है. दिसंबर 2015 में केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था: “मेरा प्लान 2018 तक भारत में 50 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन बनाने की है… मुझे विश्वास है कि आने वाले 2-3 वर्षों में भारत एक आईटी बाजार के रूप में चीन के बराबर हो जाएगा."

ये भी पढ़ें : Flashback 2018 : 20 साल में पहली बार भारत विदेशी कारोबारियों को लुभाने में चीन से आगे निकल गया

First published: 29 December 2018, 17:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी