Home » बिज़नेस » Mukesh Ambani is the richest Indian, Know about Forbes 100 list
 

मुकेश अंबानी और अजीम प्रेमजी की संपत्ति दो देशों की जीडीपी से ज्यादा, जानिए देश के टॉप 5 धनकुबेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 October 2016, 10:25 IST

कारोबारी मुकेश अंबानी देश के सबसे अमीर शख्स बनने में एक बार फिर कामयाब रहे हैं. नौ साल से वह देश के सबसे रईस व्यक्ति के ओहदे पर बरकरार हैं. फोर्ब्‍स इंडिया के मुताबिक मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति अब 22.7 अरब डॉलर पर पहुंच गई है.

दिलचस्प बात यह भी है कि मुकेश अंबानी की संपत्ति एक देश की जीडीपी के बराबर पहुंच गई है. ताजा आंकड़ों के मुताबिक उनकी संपत्ति एस्टोनिया के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के बराबर हो गई है.

अजीम प्रेमजी की संपत्ति मोजाम्बिक की जीडीपी से ज्यादा

फोर्ब्स की इस लिस्ट में सन फार्मा के दिलीप सांघवी 16.9 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ देश के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं. जबकि विप्रो के अजीम प्रेमजी देश के चौथे सबसे धनी व्यक्ति हैं. उनकी संपत्ति 15 अरब डॉलर है, जो मोजाम्बिक के 14.7 अरब डॉलर के जीडीपी से ज्यादा है.

देश के 100 सबसे धनी लोगों की सालाना सूची में हिंदुजा परिवार तीसरे नंबर पर है. 15.2 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ कारोबारी हिंदुजा ने इस लिस्ट में अपनी जगह बनाई है.

इसके अलावा पल्लोनजी मिस्त्री 13.90 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ पांचवें स्थान पर हैं. फोर्ब्‍स मैगजीन के मुताबिक देश के शीर्ष पांच अरबपतियों की कुल संपत्ति 83.7 अरब डॉलर है, जो कि मंगल पर भेजे गए यान ‘मंगलयान’ की लागत से ज्यादा है. रियो ओलंपिक 2016 के आयोजन पर आई लागत से यह 18 गुना ज्यादा है.

टॉप 20 के पास 80 फीसदी संपत्ति

फोर्ब्‍स के मुताबिक अगर लिस्ट में 80-20 नियम को लागू किया जाता है, तो इससे पता चलता है कि शीर्ष अमीरों की कुल परिसंपत्तियों में हिस्सा कम हुआ है. 80-20 नियम के मुताबिक सूची के शीर्ष 20 अरबपतियों के पास 80 प्रतिशत संपत्ति है.

फोर्ब्स का कहना है कि टॉप 20 अरबपतियों के पास 2009 में 70 प्रतिशत परिसंपत्तियां थीं, जो 2016 में घटकर 52 प्रतिशत रह गई हैं. जिससे साफ होता है कि शीर्ष 20 में निचले स्तर पर शामिल लोगों की परिसंपत्तियों में कमी आई है. 

टॉप 10 में पिछले साल के ही अरबपति

फोर्ब्स लिस्ट के मुताबिक टॉप 100 अरबपतियों की परिसंपत्तियों का कुल मूल्य 10 प्रतिशत बढ़कर 381 अरब डॉलर हो गया है, जो 2015 में 345 अरब डॉलर था.

2014 से सभी धनी भारतीय अरबपति की श्रेणी में आते हैं, जबकि पहले इनमें से कुछ करोड़पति की श्रेणी में थे. इस बार 100 भारतीयों की सूची में सबसे कम परिसपंत्तियां 1.25 अरब डॉलर रही हैं, जो पिछले साल 1.1 अरब डॉलर थी.

खास बात यह भी है कि 2015 की सूची में शीर्ष 10 अरबपति इस बार भी पहले दस में हैं. हालांकि, इनमें से कुछ की रैंकिंग में बदलाव आया है.

First published: 21 October 2016, 10:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी