Home » बिज़नेस » Four Indians In Forbes List Of World's 'Most Powerful Women'
 

अरुंधति भट्टाचार्य सबसे शक्तिशाली भारतीय महिला

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2016, 19:30 IST

फोर्ब्स पत्रिका की 2016 की सौ सबसे अधिक शक्तिशाली महिलाओं में चार भारतीय महिलाएं शामिल हैं. इसमें भारतीय स्टेट बैंक की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य, आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक चंदा कोचर, बायोकॉन की संस्थापक किरण मजूमदार शॉ और एचटी मीडिया की प्रमुख शोभना भरतिया शामिल हैं.

इस सूची में जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल शीर्ष पर हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन दूसरे स्थान पर हैं. पेप्सिको की सीईओ इंदिरा नूई इस सूची में 14वें स्थान पर हैं.

साठ वर्षीय भट्टाचार्य फोर्ब्स की सूची में 25वें स्थान पर हैं और वह सबसे चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रही हैं. एसबीआई को वसूली में अटके 11 अरब डॉलर के भारी-भरकम ऋण का सामना करना पड़ रहा है.

पढ़ें: एंगेला मर्केल के बारे में पांच दिलचस्प बातें

आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक चंदा कोचर 40वें स्थान पर हैं. उनके बारे में फोर्ब्स ने कहा कि देश के निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक की प्रमुख को भारत की बैंकिंग प्रणाली की सबसे बड़ी मुश्किल (एनपीए) से मुकाबला करना है.

महिला कर्मचारियों को आकर्षित करने के लिए कोचर ने 'आईवर्कऐटहोम' पेश किया, जिसके तहत महिला कर्मचारियों को साल भर के लिए घर से काम करने की सुविधा है.

मजूमदार-शॉ इस सूची में 77वें स्थान पर हैं. अपने दम पर सफल उद्यमी बनीं 63 वर्षीय मजूमदार-शॉ ने बायोकॉन को इन्स्यूलिन क्षेत्र की बड़ी कंपनी के तौर पर स्थापित किया. एचटी की मुखिया शोभना भरतिया 93वें स्थान पर हैं.

इस सूची में फेडरल रिजर्व प्रमुख जेनेट येलेन (तीसरे), फेसबुक की मुख्य परिचालन अधिकारी शेरिल सैंडबर्ग (सातवें), अमेरिका की प्रथम महिला मिशेल ओबामा (13वें), म्यांमा की आंन सान सू की (26वें), महारानी एलिजाबेथ-1 (29वें), बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना (36वें), नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी (52वें) और यूनेस्को की महानिदेशक आईरीना बाकोवा (89वें) का स्थान है.

शक्तिशाली महिलाओं में विश्व की सबसे तेज-तर्रार, सख्त महिला कारोबारी नेतृत्व, उद्यमी, निवेशक, वैज्ञानिक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी शामिल हैं. पत्रिका ने कहा कि ये ऐसी महिलाएं हैं जो अरबों डॉलर के ब्रांड बना रही हैं, वित्तीय बाजार में अपना दबदबा बना रही हैं.

First published: 8 June 2016, 19:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी