Home » बिज़नेस » France gave Anil Ambani Rs 1,100 cr tax waiver after Rafale deal: Report
 

फ्रेंच अख़बार का खुलासा : राफेल सौदे के बाद अनिल अंबानी को फ्रांस ने दी करोड़ों की टैक्स माफी

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2019, 14:15 IST

राफेल सौदे से जुडी एक खबर में फ्रांस के एक अख़बार ने बड़ा खुलासा किया है. अख़बार की रिपोर्ट में कहा गया है कि अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली फ्रेंच कंपनी 'रिलायंस फ्लैग एटलांटिक फ्रांस’ (आरएफएएफ) को राफेल सौदे की बातचीत के दौरान बड़ा टैक्स फायदा पहुंचाया गया. रिपोर्ट में कहा गया है कि फ्रांस की सरकार ने इस कंपनी को 143.7 मिलियन यूरो (1,124 करोड़ रुपये से ज्यादा) की टैक्स छूट दी.

फ्रांस में भ्रष्टाचार विरोधी एनजीओ शेरपा ने 26 अक्टूबर 2018 को राष्ट्रीय वित्तीय कार्यालय (पीएनएफ) में इस लेनदेन को लेकर शिकायत भी दर्ज की थी. 2015 की शुरुआत में अपने निष्कर्षों में, ऑडिटर ने कंपनी के खातों को प्रमाणित करने से इनकार कर दिया था क्योंकि यह सुनिश्चित नहीं था कि वे फ्रांसीसी नियमों के अनुसार सही थे.

ऑडिटर ने आरोप लगाया था कि रिलायंस फ्लैग अटलांटिक फ्रांस अनुचित रूप से रिलायंस ग्रुप के भीतर अन्य कंपनियों के साथ अपने लेनदेन का दस्तावेजीकरण कर रहा था. जो कि टैक्स हेवन्स में स्थानांतरित करने के लिए आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक है ताकि यह कर के बोझ से बच सके.''

अक्टूबर 2016 में अंबानी की नवगठित कंपनी रिलायंस डिफेंस को राफेल सौदे में ऑफसेट दायित्वों को पूरा करने के लिए एक भागीदार के रूप में चुना गया था. अप्रैल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पेरिस यात्रा के दौरान राफेल सौदे की घोषणा की गई थी और महीनों की बातचीत के बाद सितंबर 2016 में हस्ताक्षर किए गए थे. फरवरी में द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, मोदी की यात्रा से दो हफ्ते पहले अंबानी ने फ्रांस का दौरा किया था और तत्कालीन रक्षा मंत्री और उनके शीर्ष सलाहकारों से मुलाकात की थी.

चुनावी फंडिंग पर खुलासा- TCS ने इलेक्टोरल ट्रस्ट को दिए 220 करोड़

First published: 13 April 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी